मुरादाबाद [प्रदीप चौरसिया]। रेल प्रशासन के लिए बंद ट्रेनों को चलाने में कोविड कोच बाधा बनकर सामने आ रहे हैं। यही वजह है क‍ि घोषणा के बाद भी महाकुंभ के लिए चार नियमित ट्रेनों का संचालन अभी तक नहीं शुरू हो पाया है। प्रयागराज लिंक एक्सप्रेस सप्ताह में सात दिन के बजाय तीन दिन ही चलाई जा रही है।

देश में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद रेलवे प्रशासन ने सभी ट्रेनों को बंद कर दिया था। उस समय कोरोना संक्रम‍ितों की संख्‍या काफी बढ़ रही थी। अस्पतालों में बेड की कमी होनी शुरू हो गई थी। सरकार के निर्देश पर रेलवे ने बंद पड़ींं ट्रेनों के कोच में कोरोना पीड़ित रोगियों को भर्ती कर इलाज करने के लिए उन्‍हें कोविड कोच बनाने के आदेश द‍िए थे। इसके बाद देश भर में ट्रेनों के कोच को कोविड कोच के रूप में व‍िकस‍ित करना शुरू कर द‍िया गया। उत्तर रेलवे में एक हजार कोच को कोविड कोच के रूप में बदल द‍िया गया। मुरादाबाद मंडल में 63 कोच को बदला गया था। दिल्ली में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़ने के बाद मुरादाबाद समेत अन्य जगहों से ऐसे कोच मंगाए गए थे। इनमें कोरोना संक्रम‍ितों को भर्ती कर उनका इलाज क‍िया गया था। वर्तमान में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या कम हुई है। कोरोना रोगियों को अब कोच में रखकर इलाज करने की आवश्यकता नहीं है। इसके बाद भी कोविड कोच को सामान्‍य कोच में बदलने के आदेश नहीं द‍िए गए। कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद रेलवे धीरे-धीरे बंद ट्रेनों को चलाने की तैयारी कर रहा है। रेलवे के सामने कोच कम होने से ट्रेन चलाने में नई समस्या उत्पन्न हो गई है। उदाहरण के लिए रेलवे बोर्ड ने पिछले दिनों महाकुंभ मेला हरिद्वार के लिए बंद 18 ट्रेनों को 11 जनवरी से चलाने के आदेश द‍िए थे। इनमें से आठ ट्रेनों का ही संचालन शुरू हो पाया। पुरी-हरिद्वार के बीच चलने वाली उत्कल एक्सप्रेस, अमृतसर- ऋषिकेश के बीच चलने वाली लौहरी एक्सप्रेस, कुचीवेली-देहरादून के बीच चलने वाली कुचीवेली एक्सप्रेस, कांठगोदाम-देहरादून के बीच चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन कोच के अभाव में नहीं चलाई जा रहीं हैं। देहरादून-प्रयागराज के बीच चलने वाली लिंक एक्‍सप्रेस कोच की कमी के कारण सप्ताह में सात दिन के स्थान पर तीन दिन ही चलाई जा रही है। देश भर इस तरह के कई ट्रेनें हैं, जो कोच के अभाव में नहीं चल पा रहीं हैं।

सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेश सिंह ने बताया कि बाहर के रेल मंडल में कोच की कमी के कारण कुछ ट्रेनों को नहीं चलाया जा सका है। शीघ्र ही घोषित ट्रेनों को चलाया जाएगा। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप