मुरादाबाद, जेएनएन। Commercial Tax Imposed on Courtyard : पालिका कर्मियों की लापरवाही सामने आई है। शहर के एक व्यक्ति पांच भागों में बंटे घर के आंगन को दुकानें दिखाकर अभिलेखों में इंद्राज कर दिया और व्यवसायिक कर लगा दिया। जबकि मौके पर दुकान नहीं थी। पीड़ित ने शिकायत भी की थी, लेकिन आगे कर समाप्त करने का आश्वासन देकर आठ साल पहले कर जमा करा लिया था। बावजूद इसके अब फिर से 6210 रुपये के कर नोटिस जारी कर दिया। जिसमें कर अधीक्षक से कर को समाप्त करने की गुहार लगाई है।

यह मामला शहर के मोहल्ला घेर करम अली खां निवासी सैय्यद हसनैन हादी के परिवार से जुड़ा है। मोहल्ले में पुराना मकान है। जिसके आंगन को पांच भागों में बांट रखा है। आरोप है कि पालिका कर्मियों ने बिना जांच पड़ताल किए घर के आंगन को को अपने सरकारी रिकार्ड में पांच दुकानें दर्ज कर दी और मई 2013 में व्यवसायिक कर लगाकर नोटिस जारी कर दिया। पीड़ित पक्ष के लोगों ने शिकायत की अधिकारियों ने लगाए गए कर को जमा करने को कहा और आगे से कर खत्म करने का आश्वासन दिया। इस पर पीड़ित ने उस समय कर जमा कर दिया, लेकिन आठ साल बाद अब फिर पालिका ने 6 हजार 210 रुपये कर जमा करने का नोटिस जारी कर दिया। जिसे लेकर पीड़ित फिर कार्यालय पहुुंचा और कर अधीक्षक ओमवीर सिह से गलत कर लगाने का आरोप लगाया। जिसमें कर अधीक्षक ने कर्मियों को जांच के निर्देश दिए हैं। कर अधीक्षक ने बताया कि गलत कर लगाने की शिकायत मिली है। जिसकी जांच कराई जा रही है।

स्ट्रीट लाइट के पोल के नीचे वाहन खड़ा करने पर होगी कार्रवाई : शहर के किसान पेट्रोल पंप और पुराने स्लाटर हाउस के पास अनाधिकृत रूप से रात को बाहन खड़े रहते हैं और माल लोडिंग करने पर खड़े पोल और स्ट्रीट लाइट क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। पालिका ईओ ने ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पुलिस को तहरीर दी है।पालिका अधिशासी अधिकारी ब्रजेश कुमार ने बताया कि पालिका ने मुहल्ला दानिशमंदान में पुराने रोडवेज से कैलसा रोड की और जाने वाले बाईपास ओर बिजनौर रोड स्थित किसान पेट्रोल पंप खड़े पोलों पर स्ट्रीट लाइटें लगी हुई है। जिनके नीचे अनाधिकृत वाहन खड़े रहते हैं और रात को माल लोडिंग के दौरान पोल व लाइट क्षतिग्रस्त हाेने की आशंका बनी है। जिनके खिलाफ कार्रवाई के लिए पुलिस को तहरीर दी है।

Edited By: Samanvay Pandey