रामपुर, जेएनएन। Bulldozer Ran on Azam Khan Close Ujjwal Didar Singh Hotel : सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और आजम खां के करीबी उज्ज्वल दीदार सिंह साबी के होटल पर रामपुर प्रशासन ने बुलडोजर चलवा दिया। पूर्व जिलाध्यक्ष ने प्रशासन पर आरोप लगाया कि अदालत के स्टे तके बावजूद उनका होटल तोड़ दिया गया। प्रशासन ने इसी माह उनके कब्जे से जमीन मुक्त कराई थी और उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराकर भूमाफिया घोषित कर दिया था।

एसडीएम मयंक गोस्वामी के नेतृत्व में बनी टीम ने मंगलवार को नैनीताल रोड के किनारे कई जगह अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलवाया। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष के होटल को भी ध्वस्त कर दिया। पूर्व जिलाध्यक्ष के कौशल गंज के पास अपना पंजाब के नाम से बने इस होटल को प्रशासन अवैध बता रहा है, जिसकी वजह से उसपर कार्रवाई की गई। पूर्व जिलाध्यक्ष भी सूचना मिलते ही समर्थकों के साथ मौके पर पहुंच गए।

लेकिन, तब तक प्रशासनिक अधिकारी मौके से जा चुके थे। एसडीएम ने बताया कि हाईवे की जद में आई भूमि का मुआवजा मिलने के बावजूद कुछ लोग भूमि को कब्ज़ा मुक्त करने के लिए तैयार नहीं थे। उन्होंने भूमि पर अवैध कब्जा कर रखा था, जिसकी वजह से यह कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई को पूर्व जिलाध्यक्ष ने राजनीति से प्रेरित, लोकतंत्र का अपमान तथा कानूनों का उल्लंघन बताया है।

उनका कहना है कि न्यायालय से स्टे होने के बावजूद राज्यमंत्री की शह पर प्रशासन ने यह गैर-जिम्मेदाराना कार्रवाई की है। वह उनके होटल को गिराकर उन्हें आर्थिक तौर पर कमजोर बनाना चाहते हैं, लेकिन वह चुप नहीं बैठेंगे। सारे कागज उनके पक्ष में हैं। वह किसी दबाव में आने वाले नहीं हैं और इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट तक जाने से भी नहीं हिचकेंगे।

प्रशासन ने 22 अवैध कब्जे हटवाए : प्रशासन ने अवैध कब्जों पर कार्रवाई करते हुए नेशनल हाईवे के इर्द गिर्द से लगभग 22 अवैध कब्ज़ाधारियों से बुलडोजर के माध्यम से भूमि को मुक्त करवाया। इस दौरान प्रशासन के साथ हाईवे अथॉरिटी की टीम भी मौजूद रही। नेशनल हाईवे पर तेजी के साथ निर्माण किया जा रहा है। अभी कुछ जगहों पर हाईवे का निर्माण अधर में लटका हुआ है। इसका मुख्य कारण है हाईवे के इर्द गिर्द अवैध कब्जा का बना होना है।

मुआवजा मिलने के बावजूद कुछ लोग भूमि को कब्जा मुक्त करने के लिए तैयार नहीं हैं। इसी बीच एनएचआईए की मांग पर प्रशासन ने मंगलवार की दोपहर अवैध अतिक्रमण के विरुद्ध अभियान चलाया। तहसीलदार सुनील कुमार के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा अतिक्रमण के विरुद्ध कार्रवाई की गई। टीम ने संयुक्त रूप से नैनीताल हाईवे स्थित गांव कौशलगंज के निकट हाईवे के अतिक्रमण पर कार्रवाई करते हुए उसे बुलडोजर से मुक्त करवा दिया।

एसडीएम मयंक गोस्वामी ने बताया कि मुआवजा मिलने के बाद भी कुछ लोगों ने भूमि पर कब्जा कर रखा था। एनएचआईए और प्रशासन की एक टीम ने संयुक्त रूप से जगह चिन्हित कर व पैमाईश करवाकर भूमि को कब्ज़ामुक्त करवा दिया। इस मौके पर सीओ अरुण कुमार सिंह, नायब तहसीलदार अमरपाल सिंह, प्रभारी निरीक्षक संजय प्रताप सिंह इत्यादि मौजूद रहे।

Edited By: Samanvay Pandey