जासं, मीरजापुर : मनरेगा योजना के तहत काम करने वाले मजदूरों को कड़ी मेहनत करने के बाद भविष्य की चिता नहीं सताएगी। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) के तहत काम पाने वाले ग्रामीणों को सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि (इपीएफ) की सुविधा आगामी दिनों में प्रदान करने जा रही है, उपायुक्त श्रम रोजगार विभाग द्वारा कवायद शुरु कर दी गई है।

जनपद के 12 ब्लाक के 105 न्याय पंचायतों के 805 ग्राम पंचायतों में मनरेगा योजना संचालित हो रही हैं। वर्तमान समय में मीरजापुर में एक लाख 36 हजार सक्रिय जाब कार्डधारक है, जो मनरेगा योजना में अनवरत काम कर रहे हैं। जनपद में मनरेगा में काम करने वाले कर्मचारियों को इपीएफ सुविधा मिलने से काफी सहुलियत होगी और भविष्य भी सुरक्षित बन सकेगा। वर्तमान समय में यह सुविधा फिलहाल सोनभद्र जिले के मनरेगा कर्मियों को दी जा रही है।

-----------

मनरेगा योजना में काम करने वाले ग्रामीणों को इपीएफ की सुविधा मिलनी है, इसके लिए शासन के निर्देशानुसार विभाग द्वारा तैयारी की जा रही है। वर्तमान समय में लगभग एक लाख 36 हजार सक्रिय मनरेगा मजदूर कार्य कर रहे हैं।

- मो. नफीस, उपायुक्त श्रम रोजगार, मीरजापुर।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस