बागपत, जागरण संवाददाता। बागपत के दोघट की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रविवार को चुनावी जनसभा को संबोधित किया। उन्‍होंने अपने संबोधन में लता मंगेशकर के निधन पर गहरा दुख जताया। कहा कि जब तक तिरंगा झंडा लहराएगा लता जी सदा याद रहेंगी। लता जी स्मृति में दो मिनट का मौन रखा गया। अपने संबोधन में स्मृति ईरानी ने कहा कि किसी को विश्वास नही था साइकिल और नल एक साथ हो जाएगा। ये चुनाव महज़ चुनाव नहीं ये उनका चुनाव उन बेटों के है जो मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान पीड़ित हुए। जयंत पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने अपनों को नहीं अपनाया, उनको अपनाया जिन्होंने अपनों का खून बहाया। सपा नेताओं से जब पूछा गया कि राम भक्तों पर गोली क्यों चलवाई। उन्होंने कहा और मरवा देंगे।

सचिन और गौरव का बलिदान याद रखा जाएगा

आरएलडी को अगर वोट गया तो वो लाल टोपी वालों को जाएगा। सचिन और गौरव का बलिदान छपरौली याद रखेगी। ये वीरों की धरती है। क्‍या छपरौली का वोट उनको मिलेगा जो 370 हटाने पर पाकिस्तान का समर्थन करते हैं। क्या उनको वोट मिलेगा जो सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगते है। किसी ने शौचालय बनवाने की नहीं सोचा। घर की महिलाएं सूरज ढलने के इंतज़ार करती थी। बागपत में इन महिलाओं के लिए 40000 से ज्यादा शौचालय बनवाए। स्‍मृति ने अपने भाषण में महिलाओं को केंद्र में रखा। कहा कि अमेठी में खाद की पहली रैक संजीव बालियान के माध्यम से पहुंची। किसानों के लिए किसान सम्मान निधि 160 करोड़ की गई। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt