Move to Jagran APP

सहारनपुर में बवालियों पर कड़ी कार्रवाई, 64 को भेजा जेल, दो के घर पर चला बुलडोजर

Saharanpur violence सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद हंगामा और बवाल करने वालों पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। उधर व्यापारियों ने डीआइजी को बताया कि शुक्रवार को जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने कई अनजान लोग भी आए थे।

By Parveen VashishtaEdited By: Published: Sat, 11 Jun 2022 08:08 PM (IST)Updated: Sat, 11 Jun 2022 08:08 PM (IST)
सहारनपुर कोतवाली में पुलिस हवालात में आरोपित

सहारनपुर, जागरण संवाददाता। जुमे की नमाज के बाद घंटाघर, नेहरू मार्केट और मोरगंज में बवाल करने वाले 64 आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एसएसपी ने बताया कि बवाल करने वालों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की जाएगी। उधर, दो फरार आरोपितों के घर पर पुलिस ने बुलडोजर चलवाया।

loksabha election banner

शनिवार को बाजार में कम रही भीड़

शुक्रवार को हुए बवाल के बाद शनिवार को नेहरू मार्केट व मोरगंज का बाजार सुबह से खुल गया था, लेकिन अन्य दिनों के मुकाबले बाजार में भीड़ कम थी। बाजारों की सुरक्षा के लिए एसएसपी ने सुबह से ही फोर्स तैनात कर दी थी। खुद डीआइजी प्रतींदर सिंह ने फोर्स के साथ बाजारों में गश्त की। इस दौरान डीआइजी ने व्यापारियों को आश्वासन दिया कि वह बिना किसी के डर के दुकानें खोलें। पुलिस उनकी सुरक्षा करेगी। इस दौरान व्यापारियों ने डीआइजी को बताया कि जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने वालों को वह अच्छी तरह से पहचानते हैं, लेकिन शुक्रवार को जुमे की नमाज पढ़ने के लिए कई अनजान लोग आए थे। वह कौन थे और कहां से आए थे। पुलिस इसकी जांच कर रही है।

एसपी सिटी राजेश कुमार ने बताया कि बवाल के फरार दो आरोपित 62 फुटा रोड निवासी मुज्जमिल और खाताखेड़ी निवासी अब्दुल वाकिर के घर पर बुलडोजर चलाया गया है।

रातभर पड़ती रही दबिश, कई ने शहर छोड़ा

पुलिस अभी तक 150 बवालियों को चिह्नित कर चुकी है। इनमें से 64 आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं। चिह्नित बवालियों की धरपकड़ को पुलिस ने रातभर दबिश दी। कई बवाली शहर छोड़कर भाग गए हैं। इनकी तलाश में एसएसपी ने दो टीमों को उत्तराखंड और हरियाणा भेजा है।

आल इंडिया माइनारिटी एडवोकेट्स वेलफेयर एसोसिएशन एक रुपये में लड़ेगा केस

जेल भेजे गए आरोपितों के पक्ष में आल इंडिया माइनारिटी एडवोकेट्स वेलफेयर एसोसिएशन आ गई है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद अली ने कहा कि जेल भेजे जा रहे अधिकांश लोग निर्दोष हैं। सभी के केस लड़ने के लिए एसोसिएशन ने अधिवक्ताओं का एक पैनल बनाया है। यह पैनल केवल एक रुपये में अदालत में केस लड़ेगा।

इनका कहना है..

64 लोगों को जेल भेजा जा चुका है। सभी आरोपितों पर रासुका की कार्रवाई की जाएगी। इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। कुछ लोग फरार है। उनकी तलाश में पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं।

-आकाश तोमर, एसएसपी।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.