मेरठ, जेएनएन। हिंसा के बाद पुलिस ने अब तक 13 मुकदमे दर्ज कर 22 बवालियों को दबोचा। अब तक पुलिस 52 बवालियों को गिरफ्तार कर चुकी है। लिसाड़ीगेट में पांच, ब्रह्रमपुरी में तीन, मवाना, जानी, देहलीगेट, नौचंदी और कोतवाली में एक-एक मुकदमा दर्ज किया है, जिनमें पांच हजार आरोपित बनाए गए। 180 बवालियों को नामजद किया। रविवार को पुलिस ने मुदस्सिर, वाहिद, उम्रदराज, चांद, शहजाद और गुलफाम समेत 22 बवालियों को गिरफ्तार किया है।

हिंसा के वांछित बवालियों के पोस्‍टर

जनपद में हुई हिंसा में शामिल बवालियों के पोस्टर पुलिस ने शहर के विभिन्न एरिया में लगा दिए है। हापुड़ अड्डा, भूमिया पुल, जाकिर कालोनी, ईव्ज चौराहा, बेगमपुल, समेत शहर के प्रमुख चौराहों पर उक्त पोस्टर को लगा दिया है। कप्तान ने ऐलान किया है कि फोटो की पहचान करने वाले व्यक्ति को इनाम भी दिया जाएगा। पोस्टरों पर सर्किल के सीओ और एसओ के सीयूजी नंबर भी दिए गए है। कप्तान ने बताया कि बवालियों के नाम की पहचान करने वाले व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा। साथ ही अभी और भी बवालियों के फोटो बनवाकर शहर में लगाए जाएंगे।

यह हुए है नामजद आरोपित

लिसाड़ीगेट थाने में चौकी इंचार्ज अजय कुमार और भुवनेश कुमार की तरफ से दो मुकदमों में साजिद उर्फ अण्डा पुत्र शहजाद निवासी अय्यूब चक्की वाली गली, रिहान पुत्र इस्लाम निवासी चमड़ा पैंठ, नईम पुत्र रजा हुसैन निवासी आशियाना कॉलोनी, तैय्यब पुत्र रजा हुसैन निवासी आशियाना कॉलोनी, मुस्तफा पुत्र मुन्ना अंसारी निवासी लक्खीपुरा, हबीव पुत्र अब्दुल रसीद निवासी फतेहउल्लापुर, इकराम पुत्र सिराजुद्दीन निवासी चमड़ा पैंठ, इस्लामुद्दीन पुत्र हाफीजुद्दीन निवासी लक्खीपुरा, इस्तकार पुत्र शौकीन निवासी फतेहउल्लापुर, मोटा आफताफ पुत्र यामीन निवासी डबाई नगर, ठेकेदार कल्लू पुत्र जुम्मा निवासी ढबाई नगर, माजिद पुत्र खुर्शीद त्यागी निवासी चमड़ा पैंठ पीर वाली गली, जावेद पहलवान, पप्पल पुत्र वसीम गाजी, सानू पुत्र वसीरू, रिजवान पुत्र इस्लाम निवासी फतेहउल्लापुर, वसीम पुत्र लियाकत निवासी हुमायू नगर, मुल्ला लियाकत पुत्र मौसम निवासी हुमायू नगर, साजिद अल्टा निवासी शाहजहां कॉलोनी, सलीम पुत्र कुतुबद्दीन निवासी जाकिर कॉलोनी, सानू पुत्र बाबू निवासी 24एल, साजिद पुत्र अलाउद्दीन निवासी जाकिर कॉलोनी, खुशहाल पुत्र नफीस निवासी नल वाला संतर, इरशाद पुत्र गफ्फार मंसूरी, जाकिर कॉलोनी, इरशाद पुत्र गफ्फार मंसूरी, अमजद उर्फ अण्डा पुत्र वहाब, आबिद पुत्र बाबू, राशिद पुत्र हकीमुद्दीन, राशिद पुत्र हकीमुद्दीन, आरिफ पुत्र हैदर, डब्बू पुत्र इरशाद, काके उर्फ शाहिद पुत्र इरशाद, इमरान कुरैशी पुत्र अकील निवासी जाकिर कॉलोनी, इमरान पुत्र इरफान निवासी गली नं. 6, जीनत मस्जिद, मोहसीन, शाहनवाज पुत्र इकबाल,सोनू पुत्र इकबाल, कामिल पुत्र इदरीश, इशरार पुत्र इदरीश निवासी जीनत मस्जिद के पास, आसिफ पुत्र शमशुद्दीन, इस्लाम पुत्र गुलजार, बाबर पुत्र गुलजार निवासी चमड़ा पैंठ, कलाम पुत्र सलाम, यासर पुत्र इकबाल, अमजद पुत्र सलीम, एहसान पुत्र इसार, भूरे पुत्र हबीब, युनूस पुत्र युसूफ, निवासी चमड़ा पैंठ इत्तेफाक नगर, जीशान सैफी पुत्र रियाजुद्दीन, मेहराजुद्दीन पुत्र शाहबुद्द, आसिफ पुत्र जुग्गी निवासी मदीना मस्जिद, महबूब पुत्र इकबाल निवासी सराय बहलीम, फैसल पुत्र आसिफ निवासी उमर नगर, मोहम्मद चांद पुत्र यासीन निवासी ऊंचा मोहल्ला, शहजाद, गुलफाम निवासी बागपत गेट, सबला और भूरा पुत्रगण युनूस, आशु पुत्र बुंदू, बबली पुत्र अली हसन, पोला पुत्र इंशा अल्लाह, तालिब पुत्र शौकिन, जुनैद पुत्र नौशाद, रिहान, नम्मो पुत्र मईनुद्दीन, खुशी पुत्र बदरू, मुंदस्सिर पुत्र सरफराज, जावेद पुत्र सलीमुद्दीन निवासीगण लक्खीपुरा, फरमान पुत्र फैज, अहसान पुत्र खैराती, नदीम पुत्र सलीम, इलियास पुत्र गफ्फार, भूरा पुत्र जहीर, दिलशाद उर्फ दिल्लू निवासीगण श्यामनगर, वाहिदा तमंचा, सलमान, इमरान पुत्र बाबू, जानू पुत्र बुंदू, रहीश पुत्र रफीक, हारुन पुत्र शहीद, शमी पुत्र अमीर निवासीगण अहमद नगर, ताजी उर्फ ताज मोहम्मद, आरिफ पुत्र जमील, जहीर पुत्र मुंशी, आसिफ पुत्र शाहिद निवासीगण शकूर नगर, फिरोज पुत्र हाजी बाबूद्दीन, असलम मेवाती, दादू पुत्र असलम मेवाती निवासीगण फिरोज नगर, अतेशाम उलहक निवासी शास्त्रीनगर, उम्रदराज निवासी नीचा सद्दीक नगर, आरिफ मुल्ला निवासी शाहजहां कालोनी, हाशिम निवासी फतेउल्लापुर को नामजद किया। साथ ही अन्य तीन मुकदमें दर्ज किए गए है, जिनमें से पुलिस से कारतूस लूट और सिटी हॉस्पिटल और अन्य की तरफ से मुकदमे दर्ज हुए। कोतवाली में प्रभारी देवेश शर्मा की तरफ से राशिद, बिलाल, शादाब, इस्माल और हॉफिज अनस हॉजी मेहरुद्दीन का भतीजा नामजद किए। 300 को अज्ञात में रखा गया है। ब्रrापुरी में प्रभारी रघुराज की तरफ से मुकदमे में 25 नामजद और एक हजार अज्ञात दर्शाए गए है। दूसरा मुकदमा हरिनगर निवासी ऋषिपाल की तरफ से एक हजार अज्ञात में मुकदमा दर्ज कराया गया, जिसमें धारा 147, 148, 149, 307, 336 और 427 आइपीसी लगाई गई। तीसरा मुकदमा पुलिस की तरफ से कारतूस लूट का दर्ज किया है। नौचंदी में थाना प्रभारी आशुतोष कुमार की तरफ से फैसल, सुहेब, नवेद, वसीम, सलमान, खालिद, अनस, दानिश, नईम, अरफात, नौमन, उमर ठाकुर को नामजद और डेढ़ हजार अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया गया। देहलीगेट थाने में प्रभारी रवेंद्र की तरफ से सउद फैजी, रजा और जेहरुद्दीन को नामजद करते हुए धारा 153बी, 505 बी और 124ए में जेल भेज दिया।

इन धाराओं में हुआ मुकदमा

  • 147, 148,149 : एक राय होकर पांच से ज्यादा लोगों का अपराध करना।
  • 504 : गाली गलौच करना।
  • 506 : जान से मारने की धमकी देना।
  • 186 : सरकारी कार्य बांधा डालना।
  • 188 : धारा 144 का उलंघन करना।
  • 307 : जानलेवा हमला करना।
  • 323 : हमला कर चोट पहुंचना।
  • 332, 333, 336 : सरकारी कार्य में बांधा डालकर सरकारी अधिकारी पर पथराव से चोट पहुंचाना।
  • 337 : लापरवाही से कार्य कर गंभीर चोट पहुंचाना।
  • 341 : पुलिसकर्मियों को बंधक बनाना।
  • 352 : गिरेबान पकड़ना।
  • 353 : लोक सेवक को चोट पहुंचाना।
  • 427 : संपत्ति में तोड़फोड़ करना।
  • 436 : सरकारी संपत्ति को आग लगाना।
  • 120 बी : साजिश करना।
  • 7 क्रिमिनल एक्ट : सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना।
  • 34 लोकसपत्ति एक्ट : क्षतिग्रस्त सरकारी संपत्ति की वसूली करना।
  • 34 : एक राय होकर अपराध करना।

नोट :- छह माह से लेकर उम्रकैद तक की सजा है।

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस