मेरठ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के बावनखेड़ी गांव में 14 अप्रैल, 2008 की रात को प्रेमी सलीम के साथ मिलकर माता-पिता और मासूम भतीजे समेत परिवार के सात लोगों का कुल्हाड़ी से गला काट कर मौत की नींद सुलाने वाली शबनम और उसके प्रेमी को फांसी देने के लिए मथुरा जिला कारागार का फांसी घर तैयार हो गया है। इस नरसंहार में शबनम और सलीम को फांसी पर लटकाने के लिए पवन जल्लाद भी तैयार है। पवन को बस बुलावे का इंतजार है। शबनम को मथुरा जेल में फांसी देने का निर्णय हो चुका है। पवन जल्लाद छह माह पहले फांसी घर का निरीक्षण कर चुका है। दिल्ली के निर्भया कांड के आरोपितों को पवन जल्लाद ने फांसी दी थी।

मेरठ के रहने वाले पवन जल्लाद ने बुधवार को बताया कि गुनहगारों को फांसी पर लटकाकर उसे सुकून मिलता है। पवन ने बताया कि शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर परिवार के सात लोगों की हत्या कर दी थी। शबनम को फांसी देने के लिए मथुरा जेल के फांसी घर को चुना गया है। शबनम अभी रामपुर जेल में बंद है। पवन ने बताया कि मथुरा जेल अधीक्षक के बुलावे पर वह छह माह पहले जेल के फांसी घर का निरीक्षण कर चुका है। फांसी घर को तैयार करने के लिए सारी जानकारी वहां के जेल अधीक्षक को दी जा चुकी है। फांसी घर तैयार कराया जा रहा है।

पवन जल्लाद ने बताया कि वह फांसी देने के लिए पूरी तरह तैयार है। बस उसे बुलावे का इंतजार है। उसका कहना है कि शबनम के बाद वह सलीम को भी फांसी पर लटकाना चाहता है। सलीम को भी फांसी की सजा मिल चुकी है लेकिन अभी फांसी देने का स्थान तय नहीं हुआ है। मेरठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय ने बताया कि पवन जल्लाद को मथुरा जेल के निरीक्षण के लिए छह माह पहले भेजा गया था। उसके बाद वहां से कोई जानकारी नहीं आई है। पवन जल्लाद फांसी देने के लिए तैयार हैं। शासन का आदेश मिलने पर पवन जल्लाद को मथुरा भेज दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : आजाद भारत में पहली बार किसी प्रेमी जोड़े को एक साथ होगी फांसी, परिवार के 7 लोगों की हत्या की थी; जानें- पूरा मामला

Edited By: Umesh Tiwari