मेरठ, जेएनएन। लॉकडाउन में लोगों को नकदी की परेशानी न हो, इसलिए बैंक व डाकघर खुले हैं। लेकिन शुक्रवार को छावनी स्थित डाकघर में कोरोना वायरस से बचाव व रोकथाम के चलते ग्राहकों को प्रवेश के लिए मना कर दिया गया। हालांकि रीजन के पोस्टमास्टर जनरल ने किसी भी ग्राहक के प्रवेश पर रोक से साफ इन्कार किया है। इस संबंध में सीनियर पोस्ट मास्टर जेएल शर्मा का कहना है कि ग्राहकों के प्रवेश पर रोक नहीं है। सभी स्टाफ कर्मचारियों को सतर्कता के तहत मास्क व सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया हुआ है। वहीं, पोस्टमास्टर जनरल बरेली संजय सिंह ने बताया कि डाक घरों में बैंक की तरह नकदी का लेनदेन भी बेहद आवश्यक सेवाओं में शामिल है। इन्हें बंद करने का कोई निर्देश नहीं है। नकदी संबंधित सेवाएं जारी हैं।

एमएलसी डा. सरोजिनी अग्रवाल ने दिया 11 लाख

मेरठ : कोरोना से मुकाबला करने के लिए एमएलसी डा. सरोजिनी अग्रवाल ने अपनी विधायक निधि से 11 लाख रुपये की राशि जिला प्रशासन को दी है। उनके प्रतिनिधि डा. राजेश कुमार ने यह पत्र सीडीओ ईशा दुहन को सौंपा। एमएलसी ने इस राशि से कोरोना की रोकथाम के लिए सैनीटाइजर, मास्क और अन्य उपयोगी सामग्री की खरीद करने की अनुमति दी है।

50 लोगों को छत पर नमाज पढ़वा रहे दो भाई गिरफ्तार फोटो :जागरण संवाददाता, मेरठ : परतापुर के गांव डूंगरावली के लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि गांव निवासी दो भाई अपने घर की छत पर कुछ लोगों को नमाज पढ़वा रहे हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस को देख नमाज पढ़ रहे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। कई लोग तो छत से लटककर कूद गए। पुलिस ने दोनों भाई दीन मोहम्मद और आस मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी आनंद प्रकाश मिश्रा ने बताया कि गांव के लोगों ने भी दोनों भाइयों से नमाज घर में पढ़ाने से मना किया था। इसे लेकर उनकी ग्रामीणों से कहासुनी भी हुई थी। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी थी। मस्जिद के मौलवी ने भी उन्हें रोका था। पकड़े गए दोनों भाइयों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। उधर, सरधना में भी एक व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जनपद में कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021