मेरठ, जेएनएन। यूं तो लौकी का स्वाद सभी को कम ही पसंद आता है, लेकिन यह सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। नवरात्र व्रत में लौकी की सब्जी सभी घरों में खूब बनती है, क्योंकि व्रत में सभी सब्जियां नहीं खाई जा सकतीं। इसके अलावा अगर लौकी की बर्फी तैयार की जाए तो यकीन मानिए..यह काफी पसंद आएगी। लौकी में प्रोटीन, विटामिन और कई प्रकार के लवण होते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन-ए, विटामिन-सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम की मात्र भी काफी होती है। इसे खाने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है और कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है।

ऐसे करें तैयार

लौकी को अच्छी तरह से धोकर साफ कर लें और काटकर इसके बीज निकाल दें। इसे मिक्सी में पीसें और सारा पानी निचोड़ लें। अब इस पेस्ट को कढ़ाई में देसी घी डालकर पांच मिनट तक भून लें। इसके बाद इसमें कटे हुए काजू और बादाम सहित पिसी हुई इलायची भी मिक्स कर दें। साथ ही चीनी भी मिक्स कर दें। इसके बाद इसका पानी अच्छी तरह से सुखाने के बाद इसमें दूध और मावा मिलाकर भूनें। जब यह गाढ़ा हो जाए तो इसे एक प्लेट में सेट होने के लिए कुछ देर ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने पर इसे बर्फी के आकार में काटकर खा सकते हैं।

समा के चावल से बनाएं खीर..बढ़ाएं प्रतिरोधक क्षमता

समा के चावल व्रत में खाए जाते हैं। व्रत में इसकी खिचड़ी और खीर खूब बनती है। इसे खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के अलावा कैल्शियम की कमी भी पूरी होती है। समा के चावल की खीर बनाने की विधि बिल्कुल सामान्य चावल की खीर की तरह ही है। सबसे पहले समा के चावल को धोकर कुछ देर भिगोकर रख दें। अब एक बर्तन में थोड़े पानी में इसे पकने के लिए रख दें। जब यह अच्छी तरह से पक जाए, तब इसमें दूध मिक्स कर दें साथ ही कटे हुए काजू, बादाम, अखरोट, किशमिश और हरी इलायची का पाउडर भी डाल दें। अब इसे गाढ़ा होने तक अच्छी तरह पकाते रहें। अंत में इसमें चीनी डालें और कुछ देर और पकाएं। बस तैयार है समा के चावल की खीर। इसे ठंडा और गर्म दोनों ही तरह से खाया जा सकता है। 

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस