मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। शामली जनपद की कैराना सीट से विधायक नाहिद हसन को जिला कारागार से चित्रकूट जेल भेज दिया गया है। मंगलवार रात कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस विधायक को चित्रकूट लेकर रवाना हो गई। 

बीते जनवरी माह में भेजा गया था जेल 

कैराना विधानसभा सीट से नाहिद हसन सपा विधायक हैं। बीते जनवरी माह में उन्‍हें गैंगस्टर के मामले में जेल भेजा गया था। नाहिद हसन ने जिला कारागार से ही सपा के टिकट पर कैराना विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी। तब से वह जिला कारागार में बंद थे। उधर सूत्रों की माने तो शासन के आदेश पर मंगलवार को नाहिद हसन को जिला कारागर से चित्रकूट जेल भेजा गया है। 

गाड़ियों के काफिले में भेजा गया चित्रकूट

मंगलवार देर रात कड़ी सुरक्षा के बीच भारी फोर्स गाड़ियों के काफिले में नाहिद हसन को जिला कारागार से चित्रकूट के लिए रवाना हो गया। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने नाहिद हसन को दूसरी जेल भेजे जाने की पुष्टि की है। 

शामली और मुजफ्फरनगर के अधिकारी दिन में पहुंचे थे जिला जेल 

नाहिद हसन के मुजफ्फरनगर जिला कारागार से ट्रांसफर करने से पूर्व मंगलवार को दिन में जिला जज, डीएम व एसएसपी जिला कारागार में निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। इसके बाद शामली के जिला जज, डीएम और एसपी ने भी जिला कारागर का निरीक्षण किया था।

- - - - - 

राज्यमंत्री कपिलदेव, पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक और साध्वी प्राची समेत कई नेता कोर्ट में पेश

मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। वर्ष 2013 में गांव कवाल में तिहरे हत्याकांड के बाद नंगला मंदौड के इंटर कालेज में शोक सभा करने वाले नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। मंगलवार को राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक, पूर्व विधायक अशोक कंसल तथा भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष यशपाल पंवार आदि ने सिविल जज सीनियर डिवीजन एफटीसी एक में सरेंडर कर दिया। कोर्ट के आदेश पर उन्हें न्यायिक हिरासत में लिया गया। जिसके बाद सभी को जमानत पर रिहा कर दिया गया। उधर, इस मामले में साध्वी प्राची ने काफी समय पहले अपनी जमानत करा ली थी। कोर्ट में तारीख पर न आने के कारण उनके गैर जमानती वारंट जारी कर दिए गए थे। मंगलवार को साध्वी प्राची ने कोर्ट में पेश होकर अपने वारंट रिकाल करा लिए।

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट