Move to Jagran APP

Meerut News: खत्म हो रहा पूर्व मंत्री का रसूख, हाजी याकूब कुरैशी की 13 करोड़ की कोठी कुर्क

Meerut News सराय बहलीम में छह मकानों को मिलाकर बनाई गई है कोठी। बराबर में स्थित पुश्तैनी मकान को कार्रवाई में नहीं किया शामिल। याकूब कुरैशी के दोनों बेटे जमानत पर बाहर हैं। याकूब कुरैशी अभी जेल में है और जमानत का इंतजार कर रहा है।

By Jagran NewsEdited By: Abhishek SaxenaPublished: Sat, 25 Mar 2023 07:53 AM (IST)Updated: Sat, 25 Mar 2023 07:53 AM (IST)
Meerut News: सराय बहलीम में हाजी याकूब के मकान के आधे हिस्से को सील करती टीम। जागरण

मेरठ, जागरण टीम। पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी की संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई जारी है। गुरुवार को जहां खेती की जमीन जब्त की गई थी, वहीं शुक्रवार को 13 करोड़ रुपये की कोठी को पुलिस ने विरोध के बीच कुर्क कर लिया। एसपी देहात अनिरुद्ध कुमार ने बताया कि गैंगस्टर 14-ए के तहत कोतवाली स्थित सराय बहलीम में याकूब कुरैशी की कोठी जब्त की गई है।

कार्रवाई को गलत बताकर किया विरोध

कार्रवाई के दौरान याकूब की पत्नी शमजिदा बेगम, बेटा इमरान व फिरोज सहित परिवार मौजूद था। इमरान और फिरोज ने कार्रवाई को गलत बताते हुए विरोध जताया। हालांकि टीम ने कोठी को कुर्क कर लिया। सीओ किठौर रूपाली राय ने बताया कि छह अलग-अलग मकानों को मिलाकर कोठी बनाई गई है, जिसकी अनुमानित कीमत 13 करोड़ रुपये है। कार्रवाई के दौरान कोतवाली के साथ ही लिसाड़ी गेट और मुंडाली थाना प्रभारी और फोर्स मौजूद रही। कार्रवाई में पुश्तैनी मकान को शामिल नहीं किया गया। पुलिस ने कोठी पर बोर्ड लगा दिया है। एसपी सिटी का कहना कि कार्रवाई अभी जारी रहेगी।

पुलिस कार्रवाई जारी, खत्म हो रहा पूर्व मंत्री का रसूख

पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी के खिलाफ संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई लगातार दूसरे दिन भी जारी रही। पहले दिन करोड़ों रुपये की खेती की जमीन जब्त हुई थी, वहीं शुक्रवार को पुलिस ने 13 करोड़ की कोठी को कुर्क कर लिया। इसके साथ ही पूर्व मंत्री का रसूख भी खत्म हो गया। इस दौरान आसपास के लोग भी बड़ी संख्या में मौजूद थे। लोग चर्चा करते रहे कि एक दौर था जब याकूब कुरैशी का क्षेत्र में दबदबा था। आज उनके घर को भी कुर्क कर लिया गया है। परिवार के सदस्यों के चेहरे भी लटके हुए थे। उनकी रौनक गायब थी।

कार्रवाई रहेगी जारी

एसएसपी रोहित सिंह ने कहा कि कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। उधर, कार्रवाई करने पहुंची टीम को सही संपत्ति की जानकारी नहीं थी। इसके चलते ही टीम करीब 45 मिनट तक खड़ी रही। इसके बाद नगर निगम की टीम को बुलाया गया और फिर कुर्की की कार्रवाई पूरी की गई। 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.