मेरठ, जेएनएन। खरखौदा ब्लाक का बिजौली गांव सुर्खियों में आ गया है। सोमवार को भी यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निरीक्षण की ही चर्चा होती रही। मुख्यमंत्री से सीधा संवाद करने वाले ग्रामीण काफी खुश नजर आए।

बिजौली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार शाम निरीक्षण किया था। वह कोरोना संक्रमित भाजपा कार्यकर्ता के घर तक भी गए और स्वजन से बात की। इस दौरान गांव के एक बुजुर्ग से भी मुख्यमंत्री ने बात की और मास्क लगाने की अपील की। गांव में दिनभर मुख्यमंत्री के दौरे की चर्चा होती रही। ग्रामीणों ने बताया कि पहली बार कोई मुख्यमंत्री गांव आया है। उधर, कुछ ग्रामीणों को इस बात की कसक थी कि वह मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं कर सके। निरीक्षण के समय जैसी साफ-सफाई गांव में की गई थी, वैसी अगले दिन नजर नहीं आई। गली में लगाई गई बेरिकेडिग को भी हटा दिया गया।

कुछ घोषणा कर देते तो हमेशा याद रहता

ग्रामीण चर्चा करते दिखे कि मुख्यमंत्री गांव के लिए कुछ विशेष सुविधा या योजना आदि का लाभ देने की घोषणा कर जाते तो बहुत अच्छा होता। गांव कर हर व्यक्ति उन्हें हमेशा याद रखता। कुछ ने कहा कि कोरोना महामारी में किसी मुख्यमंत्री का गांव तक आना और एक संक्रमित के घर तक पहुंचकर हाल-चाल जानना ही अपने आप में बड़ी बात है।

इन्होंने कहा-

मेरी आयु 73 वर्ष हो चुकी है। जीवन में पहली बार इतना करीब से किसी मुख्यमंत्री को देखा है। मुझे गांव बिजौली का निवासी होने और यहां मुख्यमंत्री के आगमन के साथ उनसे बातचीत करने को लेकर काफी गर्व है। इस बात को लेकर स्वजन और पड़ोसी भी काफी खुश हैं। गांव में राशन भी पूरी मात्रा में दिया जा रहा है।

- तारा चंद्र शर्मा, ग्रामीण मेरा भतीजा नितिन भाजयुमो का पूर्व मंडल अध्यक्ष और वर्तमान में भाजपा कार्यकर्ता है। संक्रमित होने के बाद घर पर ही होम आइसोलेशन में है। संक्रमित कार्यकर्ता का हालचाल जानने के लिए किसी मुख्यमंत्री का दहलीज तक आना अपने आप में बड़ी बात है। परिवार ही नहीं सभी गांववासियों के दिल में योगी का सम्मान काफी बढ़ गया है।

-निरंजन त्यागी, ग्रामीण