बुलंदशहर, जेएनएन। मतांतरण की चर्चाओं में घिरे किशोर को न्यायालय बाल संरक्षण समिति ने अपने संरक्षण में ले लिया है। किशोर की काउंसिलिंग करके मेरठ स्थित बाल सुधार गृह में भेज दिया गया है। राज्य बाल अधिकार संरक्षण के अध्यक्ष ने मामले की उच्च स्तरीय जांच की बात कही है। जिले स्तर की समिति द्वारा साक्ष्य जुटाकर भेजने के निर्देश दिए हैं।

यह है मामला

नगर क्षेत्र निवासी एक किशोर के मतांतरण की चर्चाओं के मामले में पुलिस घिरती नजर आ रही है। पुलिस ने किशोर के बयानों के आधार पर मतांतरण के बजाय स्वजन से जमीन का विवाद बताया है। स्वजन जिन आरोपितों के नाम बता रहे हैं उन्हें खोजने के बजाय किशोर का बचाव करते नजर आ रहे हैं। किशोर ने अपने ताऊ पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। जबकि गांव सुतारी स्थित खसरा नंबर 4 में स्थित .5060 हैक्टेयर जमीन में किशोर का नाम दर्ज है और उसका मालिक है। अन्य हिस्से में उसका बड़ा भाई, बड़ी व छोटी बहन भी हिस्सेदार हैं और अभिलेखों में नाम दर्ज हैं। ऐसे में विवाद का कोई आधार ही नहीं है।

इन ब‍िंदुओं पर होगी जांच

पुलिस और किशोर मतांतरण का नहीं जमीन के विवाद का मामला बता रही है, प्रकाश में आए लोग कौन हैं। आधार कार्ड में जन्मतिथि कैसे और किस आधार पर बदली, वर्तमान आधार कार्ड पर दिल्ली का पता बताया गया है वो किसका है। मतांतरण नहीं तो डेढ़ माह तक किशोर कहां गायब रहा। पुलिस ने नाबालिग को किस आधार पर मीडिया के सामने किया पेश किया। इसके साथ ही किशोर की कई विवादित आडियो भी स्वजन ने सीडब्ल्यूसी को सौंपी हैं। इसमें कुछ लोगों के नाम भी प्रकाश में आए हैं। मामले की जांच कर प्रकाश में आए लोगों से भी पूछताछ की जाएगी।

चाइल्ड लाइन के सदस्य की भूमिका संदिग्ध

29 जून से पांच मई तक किशोर चाइल्ड लाइन गृह में रखा गया था। चर्चाओं के दौरान किशोर का मुस्लिम वेशभूषा में एक फोटो इंटरनेट मीडिया में वायरल हुआ था। इस फोटो में बाइक सवार के पास मुस्लिम वेशभूषा में किशोर खड़ा है। बाल कल्याण सरंक्षण समिति की जांच में बाइक सवार युवक की पहचान हो गई है। बाइक सवार युवक चाइल्ड लाइन का सदस्य मोहम्मद बिलाल बताया गया है। इतना ही नहीं चाइल्ड लाइन गृह में नजरबंद किशोर को मोहम्मद बिलाल बाइक पर बैठाकर चुपके से एक मुस्लिम बाहुल्य कालोनी में ले गया। किशोर ने रात इसी मोहल्ले में बिताई और सुबह चाइल्ड लाइन पहुंचा दिया गया।

इन्होंने कहा...

जिला प्रोबेशन और चाइल्ड लाइन संस्था की मंगलवार को हुई बैठक में सदस्य मोहम्मद बिलाल के कार्यों पर रोक लगा दी गई है। मामले की जांच सीडब्ल्यूसी कर रही है।

-नागेंद्र पाल सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी।

 

Edited By: Taruna Tayal