बुलंदशहर, जेएनएन। सीबीएसई बारहवीं में सौ फीसद अंक लाने वाले दिल्ली पब्लिक स्कूल के छात्र तुषार सिंह का कहना है कि किसी भी छात्र को अंग्रेजी विषय में शत प्रतिशत अंक नहीं मिलने चाहिए। उनका मानना है कि कोई भी आर्टिकल सौ फीसद परफेक्ट नहीं होता क्योंकि कोई न कोई ग्रैमिटिकल मिस्टेक रह ही जाती है। तुषार की राय है कि 100 में से 99 अंक तक ही मिलने चाहिए। मालूम हो कि तुषार को अंग्रेजी में सौ में से सौ अंक मिले हैं। तुषार ने यह भी कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है। वह अपनी सफलता से बेहद खुश हैं। आगे की पढ़ाई दिल्ली विश्वविद्यालय से करना चाहते हैं। 

नहीं की कोचिंग 

तुषार को इंग्लिश कोर, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, ज्योग्रफी और फिजिकल एजुकेशन में 100 में से 100 अंक मिले हैं। ह्यूमैनिटीज वर्ग में टॉप करने वाले दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) के तुषार सिंह यमुनापुरम के रहने वाले हैं। पढ़ाई में इनकी मदद इनके पिता एनआरईसी डिग्री कालेज के प्रोफेसर ओमप्रकाश सिंह ने की। शतप्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले इस छात्र ने कालेज के अलावा नियमित छह घंटे पढ़ाई की। कक्षा 11 में तो इन्होंने कुछ दिन कोचिंग ली भी थी लेकिन 12वीं में एक भी दिन कोचिंग नहीं की। स्वयं मेहनत की और आसमान छू लिया। तुषार ने अपनी सफलता का श्रेय अपने गुरुजनों और माता-पिता को दिया है। 

तुषार का सपना IAS बनना 

टॉपर तुषार का सपना IAS अफसर बनकर देश सेवा करना है। इन्‍होंने अपनी सफलता के बारे में बताते हुए कहा कि इन्‍हे जब भी समय किमता था ये पढ़ाई करते थे। हर विषय को गंभीरता और गहनता से पढ़ते थे।  

Posted By: Prem Bhatt

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस