Move to Jagran APP

अब यूपी के इस इलाके में पहुंचा बुलडोजर, घर तोड़ने का काम शुरू; 23 आवास तोड़कर इस चीज का होगा निर्माण

मेरठ में मल्टी लेवल पार्किंग निर्माण के लिए निगम परिसर के आवास तोड़ने का काम शुरू हो गया है। निर्माण कार्य का शुभारंभ नौ मार्च 2024 को किया गया था। लेकिन बीच में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने की वजह से कार्य अवरुद्ध रहा। नगर निगम परिसर में स्थित कुल 23 आवास टूटेंगे। इनमें से छह आवास तोड़ दिए गए हैं।

By dileep patel Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 05:02 PM (IST)
मल्टी लेवल पार्किंग निर्माण को निगम परिसर के आवास तोड़ने का काम शुरू - प्रतीकात्मक तस्वीर।

जागरण संवाददाता, मेरठ। नगर निगम परिसर में मल्टी लेवल कार पार्किंग के निर्माण के लिए आवास और कार्यालय तोड़ने का कार्य शुरू हो गया। परिसर की चिह्नित जमीन को पूरी तरह से खाली कराने के बाद जलनिगम सीएंडडीएस मल्टी लेवल कार पार्किंग का निर्माण शुरू करेगा। सितंबर 2025 तक पार्किंग का कार्य पूरा करना है।

राज्य स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत नगर निगम परिसर में मल्टी लेवल कार पार्किंग का निर्माण कार्य शासन ने पांच अगस्त 2023 को स्वीकृति किया था। जल निगम सीएंडडीएस को निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी गई है। निर्माण कार्य का शुभारंभ नौ मार्च 2024 को किया गया था। लेकिन बीच में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने की वजह से कार्य अवरुद्ध रहा।

इसके बाद कार्यदायी संस्था को नगर निगम के आवास और कार्यालय खाली कराने में एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा। करीब एक महीने की कवायद के बाद आवास खाली हो सके। तत्पश्चात आवास व कार्यालय तोड़ने से निकलने वाले मलबे के निस्तारण के लिए नीलामी की गई।

करीब 26 लाख में नीलामी छूटी। इतनी प्रक्रिया के बाद सोमवार को आवास तोड़ने का कार्य तेजगति से शुरू हुआ है। नगर निगम परिसर में स्थित कुल 23 आवास टूटेंगे। इनमें से छह आवास तोड़ दिए गए हैं। जलकल कार्यालय, कर्मचारी संघ जलमल कार्यालय, जलमल स्टोर भी तोड़ दिया गया है।

ये कार्यालय होंगे शिफ्ट

पुराना नगर आयुक्त कार्यालय, महापौर कार्यालय, अपर नगर आयुक्त तृतीय, जलकल कार्यालय, जलकल स्टोर, फायर स्टेशन, संपत्ति अनुभाग को शिफ्ट किया जाना है। नगर आयुक्त कार्यालय पहले ही दूसरे भवन की दूसरी मंजिल पर शिफ्ट हो चुका है। इसी मंजिल पर अन्य कार्यालय भी शिफ्ट किए जा रहे हैं। वहीं, फायर स्टेशन को टाउनहाल परिसर में शिफ्ट किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - 

Photos: यूपी में फिर चला योगी का बुलडोजर, अकबरनगर में एक दिन में ढहाए गए 165 अवैध निर्माण; सबसे तेज कार्रवाई