बुलंदशहर, जेएनएन। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिला प्रशासन ने बुधवार को ग्राम पंचायतों के प्रधान पद की आरक्षण सूची जारी कर दी है। आरक्षण सूची में 951 ग्राम पंचायतों में से 335 ग्राम पंचायतों को अनारक्षित रखा गया है। जबकि 616 ग्राम पंचायत अनुसूचित जाति व अन्य पिछड़ा वर्ग तथा महिलाओं के लिए आरक्षित रखा गया है।

जिला प्रशासन ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जनपद की 951 ग्राम पंचातयों का आरक्षण निर्धारण कर आरक्षण सूची बुधवार दोपहर जारी कर दी। प्रधान पद के उम्मीदार मंगलवार से ही आरक्षण सूची जारी होने का इंतजार कर रहे थे। आरक्षण सूची जारी होने के बाद कई ग्राम पंचायतों में कई साल से प्रधान पद के उम्मीदवारों को निराशा हाथ लगी है। आरक्षण सूची 951 ग्राम पंचायतों की जारी की गई है, लेकिन पंचायत चुनाव 946 ग्राम पंचायतों में ही कराया जाएगा।

जिला पंचायत के 35 वार्ड आरक्षित और 17 अनारक्षित

जिला प्रशासन ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिला पंचायत सदस्यों की आरक्षण सूची जारी कर दी गई है। जिले की 52 जिला पंचायत सदस्य वाडरें का आरक्षण निर्धारण किया गया है। 52 जिला पंचायत में 35 जिला पंचायत वार्ड एससी महिला/पुरूष व पिछड़ा वर्ग महिला /पुरूष तथा महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए है। 17 वार्ड को अनारक्षित रखा गया है। वहीं ब्लाक प्रमुख पद के लिए छह सीट अनारक्षित रखी हैं। एससी, ओबीसी के महिला/पुरूष व महिलाओं के लिए दस सीट आरक्षित रखी गई हैं।

शासन पिछले माह जिला पंचायत अध्यक्ष पद का अनारक्षित घोषित कर चुका है। जिपं अध्यक्ष का पद अनारक्षित घोषित होने के बाद बड़े-बड़े दावेदार चुनाव मैदान में उतरने के लिए जिला पंचायत वार्ड आरक्षण निर्धारण का इंतजार कर रहे थे। जिला प्रशासन द्वारा जनपद के 52 जिला पंचायत वार्डो की आरक्षण सूची ने कई उम्मीदवारों के अरमानों पर पानी फेर दिया है। 

क्षेत्र पंचायत सदस्य पद व ग्राम पंचायत सदस्य पद के आरक्षण पर एक नजर

जिले में कुल 1325 क्षेत्र पंचायत सदस्यों के पदों में 454 पद अनारक्षित रखे गए हैं। एससी महिला/पुरूष व पिछड़ा वर्ग महिला/पुरूष तथा महिलाओं के लिए 871 पद आरक्षित गई है। ग्राम पंचायत सदस्य के 12219 पदों में से 4066 अनारक्षित रखे हैं। जबकि एससी महिला/पुरूष व पिछड़ा वर्ग महिला/पुरूष तथा महिलाओं के लिए 8153 पद आरक्षित की गई है।