मेरठ : मोहर्रम की नवीं तारीख को शहर सहित जैदी फार्म, लोहिया नगर, अब्दुल्लापुर में मजलिसों का दौर जारी रहा। जुलजनाह, अलम हजरत अब्बास और हजरत अली बरामद हुए।

इमामबारगाह मनसबिया घंटाघर में मौलाना शमशाद जाफरी ने मजलिस में अलम-ए-हजरत अब्बास की तारीख बयां की। उन्होंने कहा कि आज भी दुनिया के कोने-कोने में बुलंद होकर ये अलम हजरत इमाम हुसैन की फतह की पहचान बना हुआ है। मजलिस के बाद अलम हजरत अब्बास बरामद हुआ, जिसमें अंजुमन इमाममिया के वाजिद अली गप्पू, चांद मियां, रवीश मीसम ने नौहेख्वानी की। रात में अलहाज डा. सैय्यद इकबाल हुसैन के अजाखाने हुसैनाबाद में मौलाना अब्बास बाकरी ने बड़ी मजलिस को खिताब किया। अंजुमन इमामिया व अंजुमन दस्तै हुसैनी के हुमांयू अब्बास ताबिश, गिजाल रजा ने गमगीन नौहे पढ़े। तंजीम-ए-अब्बास के अतीक उल हसनैन नकवी, काशिफ जैदी, हिलाल आब्दी, दारैन जैदी ने नौहों से गमजदा किया। छोटी कर्बला चौड़ा कुआं में मौलाना अब्बास बाकरी हैदराबादी और दरबारे हुसैनी जैदी फार्म में मुंबई से आए आलिम मौलाना शाहिद रिजवी तथा इमाम बारगाह पंजेतनी में मौलाना अम्मार हैदर रिजवी ने हुसैन और शौहदाए कर्बला की शहादत बयां की। जैदी सोसायटी में हैदर अली ताजपुरी की निगरानी में जहीर आलम अंजुमन के अजाखाने पंजेतनी पार्क से गुलाब के फूलों पर चलता हुआ जुलजनाह बरामद हुआ। रात में शाह जलाल हॉल से मौलाना गुलाम अब्बास की तकरीर के बाद गश्ती जुलूस जुलजनाह बरामद हुआ जो जैदी फार्म के सभी इमामबारगाहों और अजाखानों से होता हुआ वापस पहुंचकर खत्म हुआ। जुलूस के संस्थापक मुजफ्फर अली मरहूम, मौलाना सैयद काजिम अली जैदी आयोजक अली हैदर रिजवी रहे। जैदी फार्म में जुलूस निकाला गया।

अब्दुल्लापुर में पहली मजलिस हाजरी अजाखाना शाकिर महल में फिरोज अब्बास नकवी की जानिब से मौलाना मीराज मेहंदी ने पढ़ी। दूसरी मजलिस अजाखाना सुलेमान अब्बास महरूम की जानिब से तीसरी मजलिस अजाखाना हाजी दाउद हसन के यहां हुई। सभी अजाखानों में अलम-ए-मुबारक की जियारत हुई। नायब अली एडवोकेट ने बताया कि रात में अलम बरामद होकर दरगाह हजरत अब्बा से मोहल्ला गढ़ी में मिला। वहीं क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी मोहर्रम के होर्डिग व पोस्टर लगाए गए। इसमें कहा गया कि 'मोहर्रम आतंकवाद के खिलाफ आंदोलन का नाम है।' हसन मेहंदी, सरफराज अली, मो. रजा पीरू, नदीम अब्बास, जाफर अब्बास, शाकिर जैदी, जहर मेहंदी, तसद्दुक हुसैन, रजा अहमद, जफर अब्बास आदि ने सहयोग किया।

मोहर्रम पर होंगी मजलिसें, निकलेगा जुलूस

मेरठ : मोहर्रम कमेटी के संयोजक शाह अब्बास सफवी व मीडिया प्रभारी अली हैदर रिजवी ने बताया कि दस मोहर्रम को सुबह 7 बजे इमामबारगाह हैदरी जाटव गेट से ताजिया तथा हसन अली मरहूम के अजाखाने जाहिदियान से सुबह 9 बजे अलम हजरत अब्बास व तबरूकात बरामद होंगे।

छोटी कर्बला चौड़ा कुआं से ताजिए का बड़ा जुलूस 2 बजे कर्बला मनसबिया जैदी फार्म में भी जुलजुनाह व ताजिए का जुलूस 2 बजे इश्तियाक हुसैन इमामबारगाह से बरामद होगा। वहीं सेक्टर-4 शाह जलाल हॉल से रात 10 बजे मशाल जुलूस शाम ए गरीबां बरामद होकर कर्बला जैदी सोसायटी पहुंचेगा। वहीं रात 8 बजे अलहाज डा. सैयद इकबाल हुसैन मरहूम अजाखाने हुसैनाबाद मजलिस मजलिस व मनसबिया शाम ए गरीबां होगा।