Move to Jagran APP

UP Weather News: यूपी के मऊ में बारिश से मिली लोगों को राहत, उमस बनी आफत

यूपी के मऊ में गुरुवार की सुबह हुई बारिश ने राहत तो दी लेकिन दिनभर उमस से लोग छटपटाते रहे। बारिश से कई जगह जलजमाव भी हो गया। इसकी वजह से थोड़े समय के लिए परेशानी तो हुई लेकिन बाद में यह जलजमाव समाप्त हो गया। पिछले एक माह से अधिकतम 40 व न्यूनतम 28 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पारा बरकरार है।

By Shailesh Singh Vipul Edited By: Vinay Saxena Thu, 20 Jun 2024 03:45 PM (IST)
सुबह आसमान में छाए रहे बादल।- जागरण

जागरण संवाददाता, मऊ। लगभग ढाई महीने से भीषण गर्मी व मौसम की मार झेल रहे लोगों को गुरुवार की सुबह हुई बारिश ने राहत तो दी, लेकिन दिनभर उमस से लोग छटपटाते रहे। दोपहर में चिलचिलाती धूप ने भी लोगों को बेचैन क‍िया। दूसरी तरफ किसान भी अपने धान की नर्सरी को सहेजने में जुट गए हैं। दूसरी तरफ बारिश से कई जगह जलजमाव भी हो गया। इसकी वजह से थोड़े समय के लिए परेशानी तो हुई, लेकिन बाद में यह जलजमाव समाप्त हो गया।

पिछले एक माह से अधिकतम 40 व न्यूनतम 28 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पारा बरकरार है। चिलचिलाती धूप व उमस भरी गर्मी से पूरा जनमानस परेशान था। सूर्य की किरणें असहनीय लग रही थीं। अस्पताल मरीजों से पटा हुआ था। भीषण गर्मी से असमय लोग काल कवलित भी हो रहे थे। हालत यह थी कि आमजन की बात तो दूर पशु-पक्षी भी बेहाल थे। सभी लोग भगवान से राहत की विनती करते नजर आ रहे थे।

बुधवार को सुबह से ही आसमान में बादल उमड़ घुमड़ रहे थे। गुरुवार को रात में तेज हवा चलनी शुरू हुई और अचानक माैसम का रूख बदला और झमाझम बारिश होने लगी। सुबह आठ बजे तक रूक-रूक बारिश होती रही। इसकी वजह से माैसम सुहाना गया। तपिश व उमस झेल रहे लोगों के लिए बारिश ने राहत का काम क‍िया।

शहर के सहादतपुरा, निजामुद्दीनपुर, भींटी, कलेक्ट्रेट आदि जगहों पर सड़कों के किनारे पानी जमा हो गया।  यही नहीं मुहम्मदाबाद गोहना, मधुबन, घोसी आदि जगहों पर भी जलजमाव की स्थिति हो गई। इसकी वजह से थोड़े समय के लिए आवागमन में दुश्वारियां हुई लेकिन 11 बजे के बाद चिलचिलाती धूप में सब सूख गया। फिर उमस भरी गर्मी से लोग परेशान हो उठे। आसमान से मानों आग बरसने लगी हो।

मधुबन संवाद सूत्र के अनुसार क्षेत्र में लगभग बीस दिन से बेतहाशा गर्मी और लू चलने से सुबह से लेकर शाम तक सड़कें सूनी रह रही थी। वहीं हरी सब्जियों के दाम में बेतहाशा बढ़ोतरी हो गई थी। इससे आम आदमी के थाली से सब्जी दूर हो गई थी। वहीं मौसम के चलते हीटवेव का खतरा बढ़ गया था। बुधवार की रात से लेकर गुरुवार की सुबह तक मुसलाधार बारिश से तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है। वहीं किसानों का मानना है कि इस बारिश से सब्जी का उत्पादन भी बढ़ जाएगा। इससे सब्जी के दाम में भी गिरावट होने की उम्मीद है। हालांकि गुरुवार को दोपहर बाद धूप निकलने से एक बार पुनः लोगों को गर्मी बढ़ने का डर सता रहा है।