Move to Jagran APP

मुख्तार अंसारी पर लगे गैंगस्टर मामले में अब अगली सुनवाई 24 जून को, आधा दर्जन लोगों पर लगाया गया था एक्ट; ये है पूरा मामला?

Mukhtar Ansari News विधायक रहते मुख्तार ने कुछ लोगों को शस्त्र लाइसेंस के लिए डीएम को संस्तुति अपने लेटर पैड पर दिया था। जांच के बाद सभी लोगों के पते फर्जी पाए गए थे। थाना दक्षिण टोला में मुख्तार अंसारी सहित आधा दर्जन लोगों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। इस मामले के बाद दक्षिण टोला थाने में सभी आरोपितों के विरुद्ध गैंगस्टर का मामला भी दर्ज हुआ...

By Suryakant Tripathi Edited By: Riya Pandey Tue, 04 Jun 2024 04:08 PM (IST)
मुख्तार अंसारी पर लगे गैंगस्टर मामले में अब अगली सुनवाई 24 जून को

संवाद सूत्र, मऊ। एमपी एमएलए मामलों के प्रभारी विशेष न्यायाधीश जनार्दन प्रसाद यादव की अदालत में मुख्तार अंसारी पर विधायक निधि व शस्त्र लाइसेंस के धोखाधड़ी के मामलों के बाद लगे गैंगस्टर के कुल दो मामलों में मंगलवार को तारीख नियत थी। बांदा जेल से मुख्तार अंसारी की मृत्यु के संबंध में सभी मामलों में आख्या भेजी गई है। इन मामलों से संबंधित थाना से मुख्तार अंसारी की मृत्यु के संबंध में रिपोर्ट तलब की गई थी।

इसमें दक्षिण टोला थाना क्षेत्र के शस्त्र लाइसेंस के मामले के बाद लगे गैंगस्टर मामले में थाने की आख्या संलग्न है तथा रिपोर्ट के संबंध में साक्ष्य हो चुका है।

वहीं, सरायलखंसी थाने की आख्या मंगलवार को पत्रावली में संलग्न की गई। इस मामले में साक्ष्य होना है। विधायक निधि व शस्त्र लाइसेंस मामलों के बाद लगे गैंगस्टर में अगली तिथि 24 जून न्यायालय ने नियत कर दी।

जांच में लोगों का पता पाया गया था फर्जी

गौरतलब है कि विधायक रहते मुख्तार अंसारी ने कुछ लोगों को शस्त्र लाइसेंस के लिए डीएम को संस्तुति अपने लेटर पैड पर दिया था। जांच के बाद सभी लोगों के पते फर्जी पाए गए थे। थाना दक्षिण टोला में मुख्तार अंसारी सहित आधा दर्जन लोगों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था।

इस मामले के बाद दक्षिण टोला थाने में सभी आरोपितों के विरुद्ध गैंगस्टर का मामला भी दर्ज हुआ था। वहीं, मुख्तार अंसारी व अन्य के विरुद्ध थाना सरायलखंसी में विधायक निधि के दुरूपयोग में धोखाधड़ी का मामला पंजीकृत हुआ था।

मुख्तार समेत अन्य पर गैंगस्टर का भी मामला

इस मामले मे मुख्तार अंसारी ने विधायक रहते अपने विधायक निधि से लाखों रुपये सरवां स्थित बैजनाथ महाविद्यालय को दिया था। जांच में विद्यालय की खतौनी फर्जी पाई गई थी। इस मामले में मुख्तार अंसारी सहित अन्य को आरोपित बनाया गया था। इस मामले के बाद सरायलखंसी में इन लोगों के विरुद्ध गैंगस्टर का मामला दर्ज किया गया था।