नंबर गेम :::

22,000,00 : जनपद की जनसंख्या

2964 : आवास पिछले वर्ष हो चुके हैं पूरे

623 : आवास वित्तीय वर्ष में हो चुके हैं पूरे

105 : आवास अभी भी निर्माणाधीन

7.4 : करोड़ धनराशि हो चुकी है रिलीज

----------------

जयप्रकाश निषाद, मऊ

-------------------

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर गरीब को छत दिलाने की योजना पूरी तरह से मऊ जनपद में साकार नजर आ रही है। यहां दो वित्तीय वर्ष में जनपद के समस्त गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास से लैस कर दिया गया है। विभिन्न विकास खंडों में पात्रों को चिह्नित करने के लिए पूरी मशीनरी लगा दी गई है लेकिन कोई लाभार्थी ढूंढे नहीं मिल रहा है। प्रशासन का दावा है कि लक्ष्य के सापेक्ष शत- प्रतिशत लोगों को पीएम आवास मिल चुका है। कुछ को छोड़ दिया जाए तो लगभग सभी लोग छत के नीचे रह रहे हैं। जिन लोगों के आवास शेष बचे हैं, उनको भी किस्त जारी कर तत्काल पूरा करने का निर्देश दिया गया है। प्रधानमंत्री आवास की सूची वर्ष 2011 की सेक सूची के आधार पर बनाई गई हैं। सेक सूची में ऐसा किसी का भी नाम नहीं है जिसको पीएम आवास नहीं मिला है। ऐसे में प्रशासन दावा कर रहा है कि फिर भी अगर कोई पात्र योजना का आवास पाने से वंचित हैं तो विकास भवन में आकर अपनी बात दमदारी से रख सकता है।

पीएम आवास वर्ष 2018-19 की स्थिति :::

:लक्ष्य : 2993 आवास का

निर्माण : 2964 आवास का

निर्माणाधीन : 29 आवास।

------------------------

पीएम आवास वर्ष 2019-20 की स्थिति :::

लक्ष्य : 699

निर्माण : 623

निर्माणाधीन : 76

--------------------

ब्लाकवार आवासों की स्थिति ::::::

बड़रांव में 44 के सापेक्ष दो, दोहरीघाट में 24 केक सापेक्ष एक, मंडाव में 56 के सापेक्ष एक, घोसी में 66 के सापेक्ष एक, कोपागंज में 178 के सापेक्ष 31, मुहम्मदाबाद में 28 के सापेक्ष पांच, परदहां में 51 के सापेक्ष तीन, रानीपुर में 49 के सापेक्ष आठ, रतनपुरा में 127 के सापेक्ष 20 आवास अपूर्ण हैं।

--------------

प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों को पूरी तरह से लैस कर दिया गया है। सभी का आवास लगभग पूर्ण हो चुका है। कुछ लोगों के आवास अभी अपूर्ण हैं। उसे भी पूरा करने का निर्देश जारी कर दिया गया है।

मत्स्य नाथ त्रिवेदी : परियोजना निदेशक

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021