संसू, भोगांव: ट्रेनों का संचालन बिजली इंजन से करने के लिए रेल रूट पर बिजली की आपूर्ति उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड करेगा। बिजली आपूर्ति के लिए यूपीपीसीएल से करार होने के बाद नई हाई वोल्टेज लाइन का निर्माण करा दिया गया है। हाई वोल्टेज लाइन से पावर हाउस पर आपूर्ति मिलने के बाद पूरे ट्रैक पर जरूरी वोल्टेज का प्रवाह किया जाएगा।

शिकोहाबाद-फर्रुखाबाद रेल रूट के विद्युतीकरण की प्रक्रिया का आगाज होने के बाद ट्रेनों का संचालन बिजली इंजन से करने को लेकर जरूरी कार्रवाई की जा रही है। रूट पर बिजली इंजन से ट्रेनों को चलाने के लिए भोगांव रेलवे स्टेशन के पास उच्च क्षमता वाले पावर हाउस का निर्माण कराया जा रहा है। इस पावर हाउस पर बिजली आपूर्ति के लिए उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड से रेलवे का करार हुआ है। यूपीपीसीएल से बिजली की आपूर्ति देने के बाद पावर हाउस में लगी मशीनों से वोल्टेज नियंत्रित कर पूरे ट्रैक को आपूर्ति दी जाएगी। करार होने के बाद यूपीपीसीएल ने उच्च क्षमता की नई लाइन को पावर हाउस तक खिचवा दिया है। पावर हाउस पर मशीनें लगते ही नई लाइन से आपूर्ति सुचारू हो जाएगी। 106 किमी लंबे पूरे ट्रैक पर भोगांव स्टेशन पर बने पावर हाउस से आपूर्ति सुचारू की जानी है। पावर हाउस पर 21 एमबीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मर स्थापित कराए जा रहे हैं।

विशेषज्ञों की टीम करेगी निगरानी

यूपीपीसीएल से करार होने के बाद पावर हाउस के लिए बनाई गई नई हाई वोल्टेज लाइन पर निर्वाध आपूर्ति रहेगी। आपूर्ति की निगरानी के लिए भोगांव रेलवे स्टेशन पर बन रहे पावर हाउस पर विभिन्न विशेषज्ञों की टीम हर समय निगरानी करेगी। जनवरी के अंत तक निर्माणाधीन पावर हाउस पर मशीनों का लगना शुरू हो जाएगा।

रेल रूट पर बिजली आपूर्ति के लिए राज्य सरकार की संस्था यूपीपीसीएल से करार किया गया है। निर्वाध आपूर्ति के लिए नई लाइन बनने के बाद अब पावर हाउस पर उच्च क्षमता वाले ट्रांसफार्मरों को स्थापित कराया जाएगा। ट्रांसफार्मर स्थापित होते ही नई मशीनों से काम शुरू हो जाएगा। विवेक सिंह, मंडल विद्युत अभियंता, केंद्रीय रेल विद्युतीकरण संगठन, इटावा

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप