लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने सोमवार को राज्यपाल के निर्देश पर अधिसूचना जारी करते हुए कहा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष पदों के लिए वोटिंग 15 जून से 3 जुलाई के बीच होगी। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम पिछले महीने मई को घोषित हो चुके हैं, लेकिन अब तक जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव की तारीख घोषित नहीं हो सकी थी। इस चुनाव के बाद ब्लाक प्रमुखों के चुनाव कराए जाएंगे।

सोमवार को अधिसूचना जारी करते हुए अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज विभाग मनोज कुमार सिंह ने बताया कि जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव का विस्तृत कार्यक्रम जल्द जारी किया जाएगा। उधर, राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा एक दो दिन में निर्वाचन कार्यक्रम घोषित किए जाने की संभावना है। प्रदेश की 75 जिला पंचायतों में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव ग्रामीण राजनीति का रुख निर्धारित करने वाला माना जाता है। इसलिए सभी प्रमुख दल इसको गंभीरता से लेते हैं। सदस्यों के वोटों से होने वाले इन चुनावों में वर्चस्व बनाने के लिए सत्तापक्ष की ओर से पूरी ताकत लगाई जाती है, वहीं मुख्य मुकाबले में आने की होड़ विपक्षी दलों में भी होती है।

बता दें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणामों की घोषणा बीती पांच मई को हो गई थी, लेकिन बड़ी संख्या में पद रिक्त होने के कारण गत 12 जून को उपचुनाव कराए गए। इसमें सात पद जिला पंचायत सदस्यों के भी थे। प्रदेश की 75 जिला पंचायतों में सभी सदस्य पदों पर निर्वाचन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। पंचायतों के रिक्त पदों पर सोमवार को वोटों की गिनती पूरी होने के तुरंत बाद सरकार ने जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचन प्रक्रिया आरंभ कर दी है। इसके बाद क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव कराए जाएंगे।

त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव का भी बिगुल बज चुका है। प्रदेश की 75 जिला पंचायतों में से 65 से अधिक पर अपने जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने का लक्ष्य लेकर मैदान में उतरी भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिए विपक्ष खासतौर से समाजवादी पार्टी ताकत लगाए हुए है। चुनाव जीतने का समीकरण बनाने के लिए बाहरी उम्मीदवारों पर दांव लगाने से भी गुरेज नहीं किया जा रहा है। ऐसे में छोटे दलों की मुश्किलें बढ़ती हैं। उनके समर्थन से चुनाव जीते सदस्यों को दलबदल से रोक पाना आसान नहीं है। सपाइयों का दावा है कि 50 से अधिक जिला पंचायत अध्यक्ष उनके होंगे।

Edited By: Umesh Tiwari