लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के 'मिशन शक्ति' को ट्विटर पर भी खूब सराहना मिली। शनिवार को जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेटियों-महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के संकल्प को लेकर आगे बढ़ रहे थे तभी ट्विटर पर उनकी इस मुहिम की खूब तारीफ हुई। 'सशक्त नारी-समर्थ प्रदेश' हैशटैग के साथ काफी अधिक संख्या में ट्वीट किए गए। इस कारण ट्विटर पर यह हैशटैग शीर्ष तीन में शामिल रहा। यूपी के महिला महाविद्यालयों में 'हेल्थ क्लब' तथा सह-शिक्षा महाविद्यालयों में 'बालिका हेल्थ क्लब' की स्थापना के निर्णय की भी सराहना हुई है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए प्रतिबद्ध 'मिशन शक्ति' के तीसरे चरण का शनिवार को शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वावलंबी, सुरक्षित तथा सशक्त नारी ही नए उत्तर प्रदेश की नींव है। हम इस नींव को मजबूत करने के लिए मिशन शक्ति का तीसरा चरण शुरू कर रहे हैं। आधी आबादी को नजरअंदाज कर कोई भी समाज, प्रदेश व देश तरक्की नहीं कर सकता है। इस चरण में महिलाओं को रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ते हुए उनकी सुरक्षा के लिए काम होगा।

लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, केंद्रीय वित्त एवं कारपोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण व सीएम योगी ने मिशन शक्ति के तीसरे चरण का शुभारंभ किया। मिशन शक्ति के पहले व दूसरे चरण में अच्छा काम करने वाली एवं कोरोना संक्रमण के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 75 महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।

मुख्यमंत्री योगी ने समाजवादी पार्टी का नाम लिए बगैर कहा कि महिला सुरक्षा को लेकर इससे पहले के वातावरण से हर व्यक्ति परिचित है। महिलाओं में असुरक्षा के इसी भाव को दूर करने के लिए मिशन शक्ति को सरकार ने आगे बढ़ाया है। इसका पहला चरण बीते वर्ष शारदीय नवरात्र में शुरू किया गया था। जिन महिलाओं को आज सम्मान मिला है वह दूसरों के लिए प्रेरणा बन सकती हैं।

उन्होंने कहा कि आज से शुरू हो रहे मिशन शक्ति के तीसरे चरण को हम सभी सकारात्मक सहभागिता से सफल बनाने में सहयोग करें और एक समतामूलक समाज के निर्माण में सहभागी बनें। हमारी सरकार प्रदेश की मातृशक्ति के सर्वांगीण विकास को समर्पित है। प्रदेश सरकार उत्तर प्रदेश नारी शक्ति के सम्मान, सुरक्षा और सशक्तिकरण के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है। प्रदेश सरकार ने महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए कई कदम उठाए हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों में बटने वाला पोषाहार महिला स्वयं सहायता समूह बनाने व वितरित करेंगी। प्रदेश में डेढ़ लाख पुलिस भर्ती में 20 फीसद पद महिलाओं के लिए हैं।

यह मिली सौगातें

  • मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत 1.55 लाख बेटियों के खातों में भेजे 30.12 करोड़ रुपये
  • बदायूं में वीरांगना अवंतीबाई बटालियन के प्रांगण का शिलान्यास
  • 59 हजार ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष की शुरुआत
  • 10 हजार से अधिक महिला आरक्षियों की बीट अधिकारी पद पर तैनाती
  • 84.79 करोड़ की लागत से 1286 थानों में पिंक टायलेट के निर्माण का शिलान्यास
  • महिला बटालियनों के लिए 2982 पदों के लिए होगी विशेष भर्ती
  • सोनभद्र, चंदौली, मीरजापुर, बलिया व गाजीपुर में बलिनी मिल्क प्रोड्यूसर की तर्ज पर गठित होगी दुग्ध कंपनी
  • झांसी व महोबा में दलहन व मूंगफली के लिए झलकारी बाई महिला प्रोड्यूसर कंपनी का गठन
  • बदायूं में धान व गेहूं के लिए महिला प्रोड्यूसर कंपनी का गठन
  • जरी-जरदोजी सहित हस्तशिल्प के विकास के लिए महिला कंपनी का गठन

Edited By: Umesh Tiwari