अंबेडकरनगर, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश के जिले अंबेडकरनगर में बसपा नेता जुरगाम मेंहदी व उनके चालक की हत्या मामले में गवाह रहे शफीक की मंगलवार शाम बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश हवा में असलहा लहराते और हवाई फायरिंग करते हुए फरार हो गए। घटना के पीछे जेल में निरुद्ध माफिया खान मुबारक को जिम्मेदार माना जा रहा है। बता दें, बसपा नेता जुरगाम मेंहदी व माफिया खान मुबारक के बीच काफी दिनों से अदावत चल रही थी।

ये है पूरा मामला 

दरअसल, हंसवर थानाक्षेत्र निवासी बसपा नेता जुरगाम मेंहदी व उनके चालक शुभनीत यादव हत्याकांड के गवाह शफीक अहमद (50) पुत्र युसूफ निवासी हरंसभार की मंगलवार की शाम बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि बसपा नेता जुरगाम मेंहदी व माफिया खान मुबारक के बीच काफी दिनों से अदावत चल रही थी। इसी रंजिश में गत वर्ष जुरगाम मेंहदी की जिला मुख्यालय आते समय बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसमें उनका चालक शुभनीत यादव भी मारा गया था। प्रकरण में खान मुबारक समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। 

हालांकि घटना के समय खान मुबारक जेल में था। इसी मामले में हरसंभार निवासी शफीक अहमद गवाह थे। शफीक के बारे में कहा जा रहा है कि वह पहले खान मुबारक के साथ रहते थे, लेकिन बाद में उन्होंने उसका साथ छोड़कर जुरगाम मेंहदी का साथ पकड़ लिया। शकील मंगलवार की शाम लगभग छह बजे गांव के बाहर पान खाने गए थे। इसी दौरान उन्हें गोली मार दी गई। गोली गले में लगी और जिला अस्पताल लाते समय उनकी मौत हो गई। यहां पर सीओ सदर धर्मेंद्र सचान के साथ अन्य अधिकारी पहुंचे और आवश्यक जानकारी किए। 

क्‍या कहती है पुलिस ? 

एएसपी अवनीश कुमार मिश्र हंसवर क्षेत्र में अपराधियों की तलाश में घेराबंदी किए हैं। प्रकरण में मृतक शकील अहमद के बेटे फैसल ने खान मुबारक समेत अन्य के खिलाफ तहरीर दी है। एसपी वीरेंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि रिपोर्ट दर्ज कर प्रभावी कार्रवाई की जा रही है।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप