लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अकेले दम पर मैदान में उतरी बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के समर्थकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मंगलवार को 10 राजनीतिक दलों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीशचंद्र मिश्र से मिलकर समर्थन करने का ऐलान किया है। नेताओं ने मिश्र से कहा कि दस साल से प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है। भुखमरी, बेरोजगारी से लोग परेशान हैं। लोकतंत्र की रक्षा-सुरक्षा व न्याय के लिए वे विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के साथ हैं।

बसपा को समर्थन का ऐलान करने वाले नेताओं ने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की नीतियों से वे समर्थन करने को प्रेरित हुए हैं। लोग चाहते हैं कि मायावती प्रदेश की पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनें। बसपा नेता, सांसद व नेशनल मीडिया कोआर्डिनेटर मिश्र के कार्यालय पर पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने कोविड नियमों का पालन करते हुए अपना समर्थन दिया।

पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने कहा कि प्रदेश की जनता पूरी तरह से भाजपा और सपा से प्रताड़ित हो चुकी है, एक पार्टी गुंडों का समर्थन करती है और दूसरी पार्टी गुंडों को संरक्षण देती है। विकास इन दोनों पार्टियों के शब्दकोष में है ही नहीं। यह भी कहा कि प्रदेश का विकास सही मायने में किसी पार्टी ने किया है तो वो मायावती के नेतृत्व में बहुजन समाज पार्टी ने किया है।

इन दलों का बसपा को समर्थन

  • 1. इंडिया जनशक्ति पार्टी : अवधेश पांडेय (राष्ट्रीय अध्यक्ष )
  • 2. पच्चासी परिवर्तन समाज पार्टी : ओम प्रकाश बागी (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 3. विश्व शांति पार्टी : अंबिका प्रसाद सोनकर (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 4. संयुक्त जनादेश पार्टी : बबलू श्रीवास्तव (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 5. आदर्श संग्राम पार्टी : गौतम भारती (संस्थापक/राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 6. अखंड विकास भारत पार्टी : रितेश श्रीवास्तव (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 7. सर्वजन आवाज पार्टी : कर्नल राजेंद्र यादव (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 8. आधी आबादी पार्टी : डा. अरुणा सिंह (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 9. जागरूक जनता पार्टी : मिथलेश चौबे (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  • 10. सर्वजन सेवा पार्टी : कमाल पाशा (राष्ट्रीय अध्यक्ष)

Edited By: Umesh Tiwari