लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। कलह-अंतर्कलह से जूझ रही कांग्रेस में एक नया बखेड़ा खड़ा हो गया है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर चंदे के दुरुपयोग का आरोप लगाकर आंदोलन करने वाली कांग्रेस के उत्तर प्रदेश मीडिया संयोजक ललन कुमार खुद चंदा विवाद में फंस गए हैं। उन्होंने अपनी अपील के साथ फोटो तो राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी, प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा और प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की लगाई है, लेकिन चंदा निजी खाते में ले रहे हैं। कार्यकर्ताओं की नाराजगी के साथ पार्टी पदाधिकारियों ने भी इसे गलत माना है।

यूपी कांग्रेस के मीडिया संयोजक ललन कुमार बख्शी का तालाब विधानसभा क्षेत्र से चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। कई दिनों से क्षेत्र में सक्रिय हैं और इंटरनेट मीडिया पर सेवा कार्य के फोटो भी डालते रहते हैं। इन दिनों कोरोना पीड़ितों की मदद के नाम पर 'मदद हमारी पहल' अभियान चला रहे हैं। इसी के लिए चंदा जुटाने के लिए उन्होंने एक विज्ञापन जारी किया है, जो इंटरनेट मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया।

दरअसल, विज्ञापन में ललन कुमार ने सैनिटाइजेशन ड्राइव, हर घर राशन और सबको मदद के लिए आमजन से चंदा मांगा है। राष्ट्रीय और प्रदेश नेतृत्व का फोटो लगा है, लेकिन चंदा निजी खाते में भेजने की अपील की है। इस पर कार्यकर्ताओं ने आपत्ति शुरू कर दी है। एक कार्यकर्ता ने फोन कर तीखी आपत्ति जताई, जिसका आडियो भी रविवार को वायरल हो गया। प्रदेश के मीडिया विभाग के चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी का कहना है कि इसकी अनुमति पार्टी ने नहीं दी, यह ललन कुमार का निजी मामला है। चूंकि इसके लिए पार्टी का इस्तेमाल किया है, इसलिए नेतृत्व से बात की जाएगी।

प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के सदस्य अजय राय का कहना है कि यह गलत है। पार्टी के नाम पर निजी खाते में चंदा नहीं मांग सकते। मेरे संज्ञान में अभी मामला आया है। इस पर पार्टी में बात की जाएगी। वहीं प्रदेश कांग्रेस मीडिया संयोजक ललन कुमार ने अपनी सफाई में कहा कि मैं 'मदद हमारी पहल' मुहिम चला रहा हूं। ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करने की मंशा है, लेकिन मेरी एक सीमा है। लोगों के कहने पर ही चंदा जुटाने का प्रयास शुरू किया है। चंदे में आए एक-एक पैसे का हिसाब दानदाता को दिया जाएगा।

Edited By: Umesh Tiwari