लखनऊ, जेएनएन। अखिल भारतीय कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा इन दिनों लखनऊ के दौरे पर हैं। लखनऊ दौरे पर तीसरे दिन रविवार को उन्होंने पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में बैठक में साफ कहा कि कांग्रेस का लक्ष्य उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा को हराना है। कांग्रेस अपने इस लक्ष्य को पाने के लिए किसी भी हद तक जाएगी, किसी से भी राजनीतिक गठजोड़ भी करेगी।

प्रियंका वाड्रा शुक्रवार से लखनऊ में हैं, वह शनिवार को लखीमपुर भी गई और वहां से वापसी के बाद फिर से लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में बैठक में जुट गईं। रविवार को भी प्रियंका वाड्रा पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के आवास पर गई और फिर पार्टी मुख्यालय में आकर बैठक प्रारंभ की।

उन्होंने बैठक में कहा कि उत्तर प्रदेश में 2022 के शुरुआती महीने में होने वाले विधानसभा चुनाव में हमारा लक्ष्य भाजपा को हराना है। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि आप सभी लोग अपने लक्ष्य में लग जाएं। प्रियंका ने कहा कि भाजपा को उत्तर प्रदेश में हराने के लिए हम तो किसी भी किस्म के राजनीतिक गठजोड़ के लिए तैयार हैं। राजनीतिक दलों से गठजोड़ का विकल्प खुला है। उन्होंने कहा कि उप्र में कांग्रेस संगठन को मजबूत करना ही मेरा लक्ष्य है ताकि मैं रहूं या मूव कर जाऊं तो भी मजबूत संगठन की बदौलत पार्टी आगे बढ़ती रहे। 

प्रियंका ने कहा कि अब मैं अगस्त से उत्तर प्रदेश में कैंप करूंगी। हम गांवों में अपने संगठन को मजबूत कर रहे हैं। हम भी दुखी कार्यकर्ताओं को मनाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं, हम तो हर बड़े नेता का सम्मान भी करने से नही चूकेंगे। हमारी पार्टी से विधानसभा चुनाव लडऩे के लिए पूर्व सांसदों और विधायकों का स्वागत है।

प्रियंका वाड्रा ने कहा कि उनका मुख्य उद्देश्य प्रदेश में कांग्रेस कांग्रेस के संगठन को मजबूत करना है क्योंकि पार्टी के पास अभी बूथ स्तर तक के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं का अभाव था। उन्होंने कहा कि न्याय पंचायत स्तर तक पार्टी का संगठन खड़ा हो चुका है। अगले एक से डेढ़ महीने में ग्राम पंचायत स्तर तक भी संगठन को पहुंचाने की कोशिश है। उत्तर प्रदेश की राजधानी के प्रवास के तीसरे दिन प्रियंका वाड्रा लखनऊ के कैंट क्षेत्र में पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के आवास पर गईं। वहां से वापसी के बाद उन्होंने पार्टी के मुख्यालय में बैठक शुरू कर दी। 

Edited By: Dharmendra Pandey