लखनऊ (जागरण संवाददाता)। लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर का स्टाफ बुधवार को यू-ट्यूब चलाने में मस्त रहा। उधर वार्ड में मरीज तड़पते देख तीमारदार फरियाद करते रहे। मगर सभी ने अनसुना कर दिया। ऐसे में एक परिजन ने स्टाफ की करतूत का वीडियो बना लिया। ऐसा देख ड्यूटी पर तैनात कर्मी कर्मी भड़क गए। आरोप है कि युवक का मोबाइल छीनकर उसे कमरे में बंद कर दिया और हाथापाई की।

उन्नाव के बभनाखेड़ा निवासी रघुरा (55) बुधवार को दुर्घटना का शिकार हो गई थीं। इस दौरान उन्हें हेड इंजरी हो गई। परिजन आनन-फानन उन्हें लेकर हसनगंज सीएचसी पहुंचे। जहां से डॉक्टरों ने रघुरा को केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। परिजन विश्रम, प्रकाश व दयालु 11:30 बजे रघुरा को लेकर ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। कैजुअल्टी में दिखाने के बाद रघुरा की सीटी स्कैन कराकर न्यूरो सर्जरी वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। यहां से डॉक्टरों ने हालत में सुधार बताकर गुरुवार को फिर उन्नाव अस्पताल ले जाने को कहा।

रघुरा को हो रही थी ब्लीडिंग वार्ड से किया बाहर: नाती सर्वेश रावत के मुताबिक रघुरा की हालत ठीक नहीं थी। उन्हें ब्लीडिंग हो रही थी। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों से कई बार डिस्चार्ज न करने की फरियाद की, मगर 12 बजे के करीब रघुरा को वार्ड से बाहर कर दिया। रघुरा ने कल से कुछ भी नहीं खाया था। ऐसे में सर्वेश न्यूरो सर्जरी वार्ड में दोबारा डॉक्टरों से परामर्श लेने चला गया। इस दौरान मौजूद जूनियर डॉक्टर, मेन नर्स व महिला नर्स ने तीमारदारों की एक न सुनी।

नहीं पसीजे जूनियर डॉक्टर, मेल नर्स और महिला नर्स: ट्रॉमा में दर्द से तड़पती मरीज व ड्यूटी के दौरान यू-ट्यूब पर मनोरंजन करते डॉक्टर एवं स्टाफ सर्वेश के मुताबिक वार्ड में पेशेंट डाटा के लिए लगे कंप्यूटर पर स्टाफ गाने चला रहे थे। वहीं भर्ती अन्य मरीजों के तीमारदार मरीज को देखने की फरियाद कर रहे थे। स्टाफ की अनसुनी देख सर्वेश उनकी करतूत का वीडियो बनाने लगा। यह देख स्टाफ भड़क गया।

घसीटते हुए कमरे में किया बंद: सर्वेश का आरोप है वार्ड ब्वॉय, मेल नर्स व जूनियर डॉक्टर और गार्ड ने उनका मोबाइल छीन लिया और हाथापाई की। वहीं मोबाइल से वीडियो डिलीट करने के बाद कहासुनी हो गई। आरोप है कि इसके बाद स्टाफ ने उसे दोबारा पकड़ लिया और घसीटते हुए कमरे में ले गए, जहां उसे 45 मिनट तक कमरे में बंद रखा। हंगामा बढ़ने पर सर्वेश को कमरे से बाहर निकाला गया। रघुरा के परिजनों ने बताया कि रात भर स्टाफ कंप्यूटर पर गाने व फिल्में देखता है। तीमारदारों की कोई सुनवाई नहीं होती है।

यह भी पढ़ें: देवरिया में प्रेमी के घर बरात लेकर पहुंची दुल्हन व बरातियों पर हमला

मेल नर्स निलंबित: ट्रॉमा सेंटर प्रभारी प्रो. हैदर अब्बास ने सर्वेश को बंधक बनाने की घटना से इंकार किया। उन्होंने बताया कि तीमारदार वीडियो बना रहा था, इसको लेकर स्टाफ से कहासुनी हुई। साथ ही वह जबरन वार्ड में भर्ती करने की जिद कर रहा था। वहीं कंप्यूटर पर यूट्यूब चलाने वाले मेल नर्स को कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

यह भी पढ़ें: फेसबुक पर किडनी बेचने को तैयार परेशान मां को मिली केरल से मदद

Posted By: amal chowdhury

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस