लखनऊ, जेएनएन। हरदोई में लड़की की सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर कदम उठाने वाले एसपी का तबादला कर दिया गया है। उनका तबादला हरदोई से एसपी अम्बेडकरनगर के पद कर किया गया है।

हरदोई में होटल में काम करने वाली लड़की को ठंड की रात में 11 बजे सोमवार को सड़क पर अकेले देख बेहद संवेदनशील होने वाले एसपी आलोक प्रियदर्शी ने होटल मालिक को चेतावनी दी। होटल मालिक को काम करने वाली दोनों लड़कियों को गाड़ी से घर तक छोडऩे की सलाह देने वाले एसपी आलोक प्रियदर्शी का मंगलवार को हरदोई से तबादला कर दिया गया है। एसपी आलोक प्रियदर्शी को पुलिस अधीक्षक हरदोई से पुलिस अधीक्षक अंबेडकरनगर बनाया गया है।

हरदोई में ठंडी अंधेरी रात और एक होटल में काम करने वाली बेटी को सड़क पर अकेले पैदल जाते देख एसपी हरदोई आलोक प्रियदर्शी ठिठक गए। रात्रि भ्रमण पर करीब 11 बजे एक बेटी को अकेली सुनसान जगह पर पैदल जाती हुई देखकर एसपी तत्काल अपनी गाड़ी रुकवा कर नीचे उतरे और लड़की से इतनी रात को अकेले पैदल जाने का कारण पूछा। लड़की ने उनको अवगत कराया गया कि वह शहर के एक होटल में नौकरी करती है और वह घर वापस अकेली जा रही है।

इसके बाद एसपी आलोक प्रियदर्शी उस लड़की के साथ पैदल चलकर उक्त होटल में गए। वहां पर उन्होंने इस घोर लापरवाही पर होटल प्रबंधन से कड़ी नाराजगी व्यक्त की और साफ कहा कि रात्रि में आपका जो महिला स्टाफ घर जाएगा उसके लिए आपको गाड़ी व समुचित सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी। हर महिला की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। इतना ही नहीं उन्होंने चेतावनी दी कि आगे से ऐसी लापरवाही पाई गई तो होटल प्रबंधन के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हरदोई के एसपी आलोक प्रियदर्शी के इस कार्य की सोशल मीडिया पर भले ही जमकर सराहना हो रही है, लेकिन प्रदेश सरकार ने उनका तबादला कर दिया है।

प्रतिष्ठानों को रात में छुट्टी के बाद महिला कर्मियों को पहुंचाना होगा घर

प्रतिष्ठानों, होटल आदि को काम करने वाली महिला कर्मचारियों की रात में छुट्टी होने पर उन्हें सम्मानपूर्वक घर पहुंचाना होगा। सोमवार की रात गश्त पर निकले पुलिस अधीक्षक ने छुट्टी के बाद अकेली घर जा रही महिला कर्मचारी को देखकर खुद उन्हें लेकर प्रतिष्ठान पहुंचे। प्रबंधन से नाराजगी जताई और फिर मंगलवार को होटलों व प्रतिष्ठान संचालकों की बैठक बुलाकर सभी से कहा कि रात्रि में छुट्टी होने पर वह खुद महिला कर्मचारियों को सुरक्षित घर पहुंचवाएं। अक्सर देखा गया है कि विभिन्न होटल व प्रतिष्ठान जो रात तक खुलते हैं, वहां पर जो महिला कर्मचारी हैं, वह छुट्टी के समय अकेले ही घर जाती हैं। रात में सुनसान होने पर होने खतरा भी रहता है।

एसपी आलोक प्रियदर्शी सोमवार की रात गश्त पर निकले तो घंटाघर मार्ग पर उन्हें एक महिला कर्मचारी मिली। जोकि छुट्टी के बाद घर जा रही थी। एसपी महिला पुलिस कर्मियों के साथ रात में ही उसे लेकर प्रतिष्ठान पहुंचे। तो पता चला कि वह कर्मचारी रोजाना ऐसे ही घर जाती है। जिस पर नाराजगी जताते हुए एसपी ने न केवल उन्हें बल्कि शहर और जिले के सभी होटल व प्रतिष्ठानों को रात में छुट्टी होने की दशा पर उन्हें सम्मानपूर्वक घर पहुंचाने का निर्देश दिया और ऐसा न करने वालों पर कार्रवाई की भी बात कही। एसपी की कार्रवाई का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। मंगलवार को एसपी ने नगर मजिस्ट्रेट गजेंद्र कुमार की मौजूदगी में सभी प्रतिष्ठान संचालकों से कहा कि रात्रि में छुट्टी होने की दशा में महिला कर्मियों को सम्मानपूर्वक वह अपने संसाधनों से घर तक पहुंचाएं। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप