लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्‍तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि लोक निर्माण विभाग भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में शहीद हुए उप्र के अमर सपूतों के नाम से उनके घरों तक सड़कें बनाएगा। यदि कहीं सड़कें पहले से बनी हैं, लेकिन खराब हैं तो उनका सुदृढ़ीकरण व सुंदरीकरण भी कराया जाएगा तथा अमर बलिदानियों के फोटो व विवरण दर्शाते हुए वहां बोर्ड भी लगाए जाएंगे। 

दरअसल, शुक्रवार को उच्चस्तरीय बैठक में लोक निर्माण विभाग के कामकाज की समीक्षा करते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि चौरी-चौरा कांड में शहीद हुए बलिदानियों के घरों तक जल्दी से जल्दी सड़कें बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए और सभी जिलों से शहीदों की सूची एकत्र करा ली जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि लोक निर्माण विभाग की ओर से चलायी जा रहीं डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम गौरवपथ, मेजर ध्यानचंद विजय पथ व जय हिंद वीर पथ सहित अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए बजट में अलग से मद बनाया जाए। इन अभिनव योजनाओं को पूरा करने व संबंधित विभागों से समन्वय के लिए उन्होंने शासन स्तर से व लोक निर्माण विभाग से एक-एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाने के भी निर्देश दिए। 

मौर्य ने प्रदेश में बड़ी संख्या में बनाये जा रहे लघु सेतुओं, रेल उपरिगामी सेतुओं, नदी सेतुओं व फ्लाईओवर की प्रगति की समीक्षा करते हुए इन कार्यों में तेजी लाने के लिए कहा। उन्होने कहा कि जहां भी पांटून पुल की आवश्यकता है, वहां तत्काल सभी औपचारिकताएं पूरी करते हुए उन्हें बनाया जाए। लोगों को आवागमन में कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। मौर्य ने सभी परियोजनाओं के उपयोगिता प्रमाणपत्र चार दिन के अंदर अनिवार्य रूप से मंगाते हुए ठेकेदारों को भुगतान करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

 

Edited By: Divyansh Rastogi