हरदोई, जेएनएन। कमलेश तिवारी के हत्‍यारोपितों शेख अश्फाकुल हुसैन और मोइनुद्दीन पठान की तलाश में हरदोई की ट्रेन में चेकिंग अभियान चला। सद्भावना एक्सप्रेस, नौचंदी, लखनऊ मेल की भी चेकिंग की गई। वहीं हरदोई एसपी सद्भावना एक्सप्रेस में सवार होकर लखनऊ के लिए रवाना हो गए। पुलिस को सूचना मिली थी कि शाहजंहापुर में देखे गए हैं।  

पुलिस को कमलेश तिवारी की हत्या में शामिल लोगों की शाहजहांपुर तक लोकेशन मिली थी। जिसके बाद खुफिया एजेंसी से सूचना दी गई कि वह लोग ट्रेन से लखनऊ जा सकते हैं। पुलिस ने हत्‍यारोपितों शेख अश्फाकुल हुसैन और मोइनुद्दीन पठान की फोटो दिखाकर लोगों से पूछताछ की। सद्भावना, नौचंदी व लखनऊ मेल में सघन चेकिंग हुई। पुलिस फोर्स ट्रेन पर ही सवार होकर लखनऊ की ओर रवाना हुई। एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि सूचना पर चेकिंग कराई गई थी लेकिन कुछ मिला नहीं। 

यह भी पढ़ें :  Kamlesh Tiwari Murder Case:लखनऊ पहुंचे कमलेश तिवारी हत्यकांड के षड्यंत्रकारी आरोपी

Kamlesh Tiwari Murder Case: हिंदुवादी नेता बनकर कमलेश के करीब पहुंचा था हत्यारा अशफाक

बता दें कि पुलिस को सूचना मिली थी कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार मुख्य आरोपित शेख अश्फाकुल हुसैन और मोइनुद्दीन पठान शाहजंहापुर में देखे गए। इस सूचना पर शाहजहांपुर पुलिस के साथ एसटीएफ व एसआइटी ने वहां कई जगह पर छापा मारा है। कमलेश तिवारी हत्याकांड के संदिग्ध हत्यारे शाहजहांपुर में देखे जाने की सूचना पर एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की। इसके साथ ही गेस्ट हाउस को भी खंगाला गया। पुलिस को यहां पर सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं। फिलहाल एसटीएफ की टीम शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए है।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप