लखनऊ, जेएनएन। संजय गांधी पीजीआइ नर्सेज एसोसिएशन गुरुवार से काला फीता बांधकर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेगा। नर्सेज एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा शुक्ला और महामंत्री सुजान सिंह ने कहा कि एमएसीपीएस, पुनर्गठन और आउट सोर्सिंग पर रोक लगाने के लिए 15 दिन पहले नोटिस जारी किया था, लेकिन संस्थान प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया।

संस्थान के अधिकारी रूटीन कार्य डीपीसी और एमएसीपीएस तक नहीं कर रहे हैं। अपर निदेशक भी सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं। संस्थान प्रशासन राज्यपाल से अनुमति लेकर नीतिगत फैसला भी ले सकता है। यह तो रूटीन कार्य है। पदनाम में एम्स की तरह बदलाव, एमएसीपीएस, कैडर का पुनर्गठन,  पहले से काम कर रहीं आउटसोर्स नर्सेज को एम्स के समान सीधे संविदा पर रखते हुए वेतन देने सहित अन्य मांगों के लेकर ज्ञापन दिया था।

सीमा शुक्ला ने कहा कि अगर एक घंटे भी सभी नर्सों ने कार्य बहिष्कार कर दिया तो मरीजों को नुकसान होगा। इसलिए हम लोग पहले सांकेतिक विरोध कर रहे हैं। यदि इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप