अमेठी, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में शनिवार को दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। निर्माणाधीन सार्वजनिक शौचालय के पास अधेड़ का जला हुआ शव मिला है। बेटा व परिवार के दूसरे लोग गांव के ही कुछ लोगों पर जिंदा जलाने का आरोप लगा रहे हैं। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

ये है पूरा मामला 

मामला गौरीगंज थाना क्षेत्र के उत्तरगांव मजरे बस्तीदेई का है। घटनाक्रम के मुताबिक, शुक्रवार को गांव निवासी 55 वर्षीय राम प्रसाद जिलाधिकारी के यहां सार्वजनिक शौचालय निर्माण को लेकर शिकायती पत्र देने गया था। परिजनों की माने तो उसके बाद से ही गांव के कुछ लोग गुस्से में थे। शाम तक सबकुछ ठीक था। सुबह राम प्रसाद का अध जला हुआ शव निर्माणाधीन सार्वजनिक शौचालय के करीब पड़ा हुआ दिखाई दिया। जिस पर लोगों पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स गांव पहुंची है। गांव वालों की माने तो सार्वजनिक शौचालय वाली भूमि के करीब ही राम प्रसाद का पट्टे की भूमि पर मकान बना हुआ है। घर के सामने की खाली जमीन पर भी अब तक उसी का कब्जा था। ऐसे में वह नहीं चाहता था कि शौचालय का निर्माण यहां हो। लेकिन, चार-पांच दिन पहले उसके बेटे भी कानपुर से गांव आए थे और प्रधान से सार्वजनिक शौचालय कही और बनाने की बात कही थी पर बात नहीं बनी। जिसके बाद राम प्रसाद ने डीएम के यहां शिकायत भी की है। पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने कहा कि घटना से जुड़े सभी पहलूओं की गंभीरता से जांच की जा रही है। शव का पोस्टमॉर्टम चिकित्सकों के पैनल से करवाने के लिए पत्र लिखा गया है।

 

Edited By: Divyansh Rastogi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट