सीतापुर, संवादसूत्र। महमूदाबाद की विधायक आशा मौर्या ने एक जरूरतमंद परिवार की बेटी का विवाह अपने आवास से कराया। विवाह के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं करते हुए अपनी मौजूदगी में विवाह की सभी रस्में पूरी कराईं। दान दहेज में उपहार भी दिया और धूमधाम से विदाई कराई।

इटिया निवासी सालिक राम की तीन वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। सालिक राम अपने पीछे पत्नी विमला देवी के अलावा तीन अविवाहित पुत्रियों को छोड़ गए थे। बड़ी बेटी की शादी तो विमला ने किसी तरह की थी। मंझली बेटी की गत वर्ष कोरोना के समय मौत हो गई थी। तीसरी बेटी ऋचा की जिम्मेदारी विमला के लिए चुनौती बनी थी। ऋचा की एमए की पढ़ाई पूरी होने के बाद विमला शादी के लिए परेशान थी।

पिछले दिनों जौनपुर निवासी अवनीश कुमार से ऋचा की शादी पक्की हो गई थी। शादी के लिए दान दहेज व अन्य इंतजाम को लेकर विमला परेशान थीं। यह जानकारी किसी ने विधायक आशा मौर्या को दी। विधायक ने विमला से मिलकर अपने घर से शादी कराने का प्रस्ताव दिया। शादी में पूरी मदद का भरोसा दिया। विधायक के आश्वासन पर बेटी की शादी के लिए विमला तैयार हो गई।

सोमवार की शाम विधायक के सिधौली मार्ग पर बने आवास में शहनाई गूंज रही थी। विधायक ने अपने घर में शादी का मंडप बनाकर विवाह की रस्म पूरी कराई। नव युगल ने एक दूसरे के गले में वरमाला डाली। विधायक ने विवाह के बाद दान दहेज में उपहार भी दिया। सभी रस्मों के बाद विदाई की गई। विधायक के इस सामाजिक कार्य को लेकर लोगाें में चर्चा रही। सभी ने विधायक के नेक प्रयासों की सराहना की।

Edited By: Anurag Gupta