लखनऊ, संवाद सूत्र। पारा इलाके की काशीराम कालोनी में गुरुवार देर शाम हुई रोंगटे खड़े कर देने वाली वारदात में आयुर्वेदिक दवाइयों की सेल्समैन मोहम्मद यासीन ने अपनी तीन साल की बेटी को फ्लैट के बाहर निकाल दिया। इसके बाद 26 वर्षीय पत्नी जारा खान उर्फ शिवा विश्वकर्मा के मुंह पर तकिया लगाकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देकर फ्लैट का दरवाजा बंद कर बेटी को रोता छोड़ भाग खड़ा हुआ। जारा, यासीन की दूसरी पत्नी थी। जारा का फोन न रिसीव होने पर उसका भाई फ्लैट का दरवाजा खोलकर अंदर पहुंचा तो गद्दे में लिपटा उसे बहन का शव मिला। सूचना पर पुलिस और फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस की टीमें हत्यारोपित यासीन की तलाश में दबिश दे रही हैं।

बहराइच के नानपारा में रहने वाला मोहम्मद यासीन यहां पारा की काशीराम आवासीय कालोनी के ब्लाक नंबर दो में दूसरी पत्नी जारा खान उर्फ सोफिया और तीन साल की बेटी सारा के साथ रहता था। शाम को यासीन और जारा फ्लैट में थे। इस बीच उनमें विवाद हो गया। विवाद के दौरान यासीन ने बेटी को फ्लैट के बाहर निकालकर दरवाजा अंदर से बंद कर दिया। जारा की हत्या कर दी। वारदात के बाद गद्दे में उसका शव लपटेकर पीछे के कमरे में चारपाई के नीचे रख दिया। इसके बाद बाहर निकला फ्लैट के दरवाजे का कुंडा बाहर से लगाकर बेटी को रोता छोड़कर भाग निकला। जारा का भाई शरद उसे फोन कर रहा था।

फोन रिसीव न होने पर वह आनन फानन पहुंचा फ्लैट के बाहर भांजी को रोता देख उसे शांत कराया। फ्लैट का दरवाजा खोलकर अंदर गया बहन को आवाज दी। उत्तर न मिलने पर पीछे के कमरे में पहुंचा तो चारपाई के नीचे गद्दे में लिपटा शव मिला। शरद यह देख सन्न रह गया। उसने पुलिस को सूचना दी। एसीपी काकोरी आशुतोष कुमार, इंस्पेक्टर पारा दधिबल तिवारी मौके पर पहुंची। फोरेंसिक टीम बुलाई गई। पुलिस अधिकारियों और फोरेंसिक टीम ने मौका मुआयना किया। एसीपी ने बताया कि जारा, यासीन की दूसरी पत्नी है। छह साल पहले यासीन ने उससे विवाह किया था। यासीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है।

घटना के समय मोहल्ले में बेटे के साथ टहल रही थी पहली पत्नी : एसीपी ने बताया कि यासीन की पहली पत्नी शहरबानो है। शहरबानो से आठ साल पहले यासीन का विवाह हुआ था। शहरबानो से शादी के दो साल बाद यासीन ने जारा से प्रेम विवाह किया था। जारा हिंदू है। उसका पहले का नाम शिवा विश्वकर्मा है। वहीं, शहरबानो बहराइच में रहती है। तीन-चार दिन पहले शहरबानो अपने बेटे के साथ यहां आयी थी। वह भी फ्लैट में ही रह रही थी। घटना के समय शहरबानो अपने बेटे के साथ बाहर मोहल्ले में सड़क पर टहल रही थी। शहरबानो से प्राथमिक पूछताछ हुई तो उसने घटना की जानकारी से इंकार किया। शहरबानो से पूछताछ जारी है।

Edited By: Anurag Gupta