नई दिल्‍ली, जेएनएन। 'माय सिटी माय प्राइड' अभियान के तहत लखनऊ ने वे 11 मुद्दे तय कर लिए हैं, जिन पर काम किया जाना है। अर्थव्यवस्था, शिक्षा और इन्फ्रास्ट्रक्चर में तीन मुद्दे हैं। वहीं, स्वास्थ्य के क्षेत्र में दो मुद्दे हैं। लखनऊवासियों ने माना है कि यहां के कई प्रमुख बाजारों की सफाई होना बेहद जरूरी है, इसके लिए यहां सफाई होने के लिए अभियान भी चलेगा। वहीं, लखनऊ के इन बाजरों में अब सीसीटीवी कैमरे भी लगाये जाएंगे। 

शहर की बेहतरी के 11 समाधान
1- आलमबाग, भूतनाथ और यहियागंज में सफाई अभियान चलाया जाएगा। सीसीटीवी भी लगेंगे। (संरक्षक- लखनऊ व्यापार मंडल)
2- जानकीपुरम में पांच पार्कों का अगले छह महीने में सौंदर्यीकरण होगा। (संरक्षक- लखनऊ जन विकास महासभा)
3- ब्लड की कमी से मौतें न हों, इसके लिए ब्लड बैंकों से समन्वय का काम करेगा। ब्लड डोनेशन कैंप लगाए जाएंगे। (संरक्षक-धन्वंतरि सेवा संस्थान)
4- बलरामपुर अस्पताल में तीमारदारों के लिए इसी माह से भोजन और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था हो जाएगी। (संरक्षक- प्रसादम सेवा)
5- दो स्कूलों को हैप्पी स्कूल योजना के तहत गोद लिया जाएगा। इन स्कूल में सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा। (संरक्षक- इनर व्हील क्लब)
6- जल्द ही गोमतीनगर में बुजुर्गों के लिए वृद्धाश्रम बनेगा। इसमें निराश्रितों के रहने का भी इंतजाम किया जाएगा। (संरक्षक- गोमती नगर जनकल्याण महासमिति)
7- बच्चों के खिलाफ अपराधों में इजाफा हो रहा है। उन्हें सही मार्गदर्शन की जरूरत है, इसकी शुरुआत होगी। (संरक्षक - होप इनिशिएटिव संस्था)
8 -750 महिलाओं को स्वाबलंबी बनाया जाएगा। मलिन बस्तियों के बच्चों को शिक्षित किया जाएगा। (संरक्षक- सिटिजन फाउंडेशन)
9- महिलाओं को हैंडीक्राफ्ट की ट्रेनिंग दी जाएगी। जेल में महिलाओं को दस सिलाई मशीन दी जाएगी। (संरक्षक- अंश वेलफेयर फाउंडेशन)
10- बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। 300 गरीब महिलाओं को तीन महीने का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। (संरक्षक- ऋषि कुमार, सेंटर हेड, एचसीएल लखनऊ)
11- बालिका स्कूलों में सैनेटरी नैपकीन का एटीएम लगेगा, जहां उपयोग की हुई नैपकीन को नष्ट करने की भी व्यवस्था होगी। (संरक्षक- संयुक्ता भाटिया, मेयर)

By Krishan Kumar