जागरण संवाददाता, लखनऊ: रक्तदान महादान ही नहीं जीवनदान भी है। खून की कमी से किसी मरीज की जान न जाए इसलिए धन्वंतरि सेवा संस्थान ने जरूरतमंदों को तत्काल ब्लड दिलाने का बीड़ा उठाया है। संस्था अस्पतालों में शिविर लगाकर रक्तदान कराती है और ब्लड बैंकों से समन्वय कर उसे मरीजों को मुहैया कराती है।

अक्सर रक्त की कमी से मरीजों की मौत खबरें आती हैं। गत महीने 'दैनिक जागरण’ कार्यालय में 'माय सिटी माय प्राइड’ के तहत आयोजित फोरम में स्वस्थ समाज के तहत यह मसला उठा था। इस दौरान धन्वंतरि सेवा संस्थान ने रक्तदान शिविर लगाने और ब्लड बैंकों से समन्वय कर जरूरतमंदों को खून दिलाने का संकल्प लिया था। इस क्रम में संस्था की ओर से केजीएमयू व ऐशबाग में रक्तदान शिविर लगाया। जिसमें 50 से अधिक यूनिट रक्तदान किया गया। संस्था के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने बताते हैं कि वह ब्लड बैंकों के संपर्क में रहते हैं। जरूरतमंद की सूचना मिलने पर उसके लिए निश्शुल्क खून की व्यवस्था कराते हैं।

यहां निश्शुल्क है स्ट्रेचर व व्हील चेयर सेवा
अस्पतालों में अक्सर स्ट्रेचर या व्हील चेयर न मिलने से तीमारदारों को मजबूरन मरीजों को कंधे पर लादकर डॉक्टर को दिखाने ले जाना पड़ता है। इस समस्या के निदान के लिए धन्वंतरि सेवा संस्थान ने पहल की। इस क्रम में केजीएमयू, ट्रामा सेंटर, लोहिया अस्पताल, सिविल अस्पताल, रानी लक्ष्मी बाई अस्पताल, लोकबंधु अस्पताल व बलरामपुर अस्पताल में सेवा केंद्र स्थापित किया। इन केंद्रों से अस्पताल के मरीजों को मुफ्त में स्ट्रेचर व व्हील चेयर मुहैया कराया जाता है। वहीं, ट्रामा सेंटर में संस्थान के छह कार्यकर्ता 24 घंटे ड्यूटी करते हैं। रेड ड्रेस में दो-दो कार्यकर्ता तीन पालियों में तैनात रहते हैं। वे स्ट्रेचर व व्हीलचेयर निश्शुल्क मुहैया कराते हैं।

यहां दिए इतने स्ट्रेचर व व्हील चेयर
ट्रामा सेंटर - 50
केजीएमयू - 45
बलरामपुर अस्पताल - 45
सिविल अस्पताल - 30
लोहिया अस्पताल - 30
रानी लक्ष्मी बाई अस्पताल - 20
लोकबंधु अस्पताल - 18

By Gaurav Tiwari