जागरण संवाददाता, लखनऊ : माय सिटी माय प्राइड के तहत हुई पहल पर सहभागिता आधारित अभियान का असर दिखने लगा है। यह बात मंगलवार को दैनिक जागरण कार्यालय में आयोजित राउंड टेबल कॉन्‍फ्रेंंस में सभी भागीदारों की चर्चा और उनके द्वारा किये गए प्रयासों के परिणाम से उभर कर आई। तय हुआ कि शहर को स्वच्छ व सुविधाओं से संपन्न बनाने के लिए हम सभी इसी प्रतिबद्धता के साथ काम करते रहेंगे। ताकि, अपना शहर नंबर वन बन सके। राउंड टेबल कांफ्रेंस में महापौर संयुक्ता भाटिया सहित विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

कॉन्‍फ्रेंंस के दौरान राजधानी में स्वास्थ्य, सुरक्षा, शिक्षा, इकोनॉमी व इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थिति व इसमें सुधार पर विचार-विमर्श किया। इन पांचों विषयों पर पूर्व में माय सिटी माय प्राइड के तहत हो चुकी कांफ्रेंस में पारित प्रस्तावों पर चर्चा की गई। जनप्रतिनिधि व विशेषज्ञों ने अपने संकल्पित कार्यों की प्रगति पर प्रकाश भी डाला।



कॉलेजों में लगवाईं सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन
हमने माय सिटी माय प्राइड अभियान के तहत स्कूलों में सेनेट्री नैपकिन की वेंडिंग व डिस्पोजिबल मशीनें लगवाने का संकल्प लिया था। नेशनल पीजी कालेज, एपी सेन गर्ल्‍स डिग्री कालेज, राजाजीपुरम स्थित सेंट टेरेसा इंटर कालेज सहित कई अन्य कालेजों में सेनेट्री नैपकिन वेंडिंग व डिस्पोजबल मशीनें लगवाई जा चुकी हैं। बाकी स्कूलों में मशीनें लगवाने का कार्य जारी है। साथ ही पिंक टायलेट व ऐसे पब्लिक प्लेस, जहां महिलाओं का आना-जाना ज्यादा रहता है, वहां भी नैपकिन वेंडिंग मशीनें लगवाई जाएंगी।
-संयुक्ता भाटिया, महापौर।

 

बाजारों में ढाई हजार डस्टबिन रखवाये
आम लोगों में सफाई के प्रति जागरूकता लाने के लिए बाजारों में डस्टबिन रखवाने का संकल्प लिया गया था और अब तक ढाई हजार डस्टबिन रखवा भी दी गई हैं। सफाई कर्मचारियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए उन्हें दस्ताने बांटे जाने की योजना है। नगर निगम से सफाई कर्मचारियों की सूची मांगी जाएगी और यह अभियान शुरू किया जाएगा। लक्ष्मी का स्वरूप मानकर रात में कूड़ा न फेकने की परंपरा को समाप्त करने के लिए भी जागरूक किया जा रहा है।
-अमरनाथ मिश्रा, वरिष्ठ महामंत्री लखनऊ व्यापार मंडल

तीन सिलाई मशीनें दीं, सेंटर खोला जा रहा
महिलाओं को पुराने कपड़े के इस्तेमाल कर जरूरत का सामान बनाने के प्रति जागरूक करने और उन्हें रोजगार से जोडऩे के लिए 10 सिलाई मशीन देने का संकल्प लिया था। तीन सिलाई मशीनों का वितरण करने के साथ ही पारा में सिलाई सेंटर खोलने की प्रक्रिया चल रही है। पुराने कपड़ों से 77 बैग बनाए जा चुके हैं और दीपावली के पहले इनका वितरण किया जाएगा। इसके माध्यम से पॉलीथिन को समाज से हटाने के लिए जागरूक किया जाएगा।
-श्रद्धा सक्सेना, संस्थापक/अध्यक्ष, अंश वेलफेयर फाउंडेशन

श्रमिकों के बच्चे पाने लगे कांवेंट की शिक्षा
मलिन बस्ती में रहने वाले श्रमिकों के बच्चों को कांवेंट शिक्षा देने का संकल्प लिया था। 13 बच्चों को शिक्षा के लिए चयनित कर लिया गया है। प्रोजेक्टर के माध्यम से आधुनिक शिक्षा देना ही हमारी प्राथमिकता है। महिलाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए गाय के गोबर से अगरबत्ती व क्वायल समेत कई घरेलू सामान बनाने की ट्रेनिंग दी जा रही है।
-शालिनी सिंह, संस्थापिका, सिटीजन फाउंडेशन

35 कार्यशालाएं कर बताया 'गुड टच बैड टच'
स्कूल में मासूमों को बैड टच और गुड टच के बारे में जागरूक करने के लिए स्कूलों में अभियान चलाया जा रहा है। दैनिक जागरण के फोरम में हमने स्कूलों में कार्यशाला के माध्यम से जागरूक करने का संकल्प लिया था। अब तक 35 से अधिक विद्यालयों में कार्यशालाएं पूरी हो गई हैं। इसके अलावा अभिभावकों में भी इसके प्रति चेतना जगाने का प्रयास किया जा रहा है।
-राजेश ओझा, हेड, होप इनीशिएटिव

बलरामपुर अस्पताल में ढाई-तीन सौ मरीजों मिलने लगा भोजन
दैनिक जागरण माय सिटी माय प्राइड के फोरम में लिया एक संकल्प हमने पूरा कर लिया है। बलरामपुर अस्पताल परिसर में हम प्रतिदिन 250-300 तीमारदारों को निश्शुल्क भोजन करा रहे हैं। अब हमारी कोशिश है कि शहर के प्रमुख चौराहों व लोहिया अस्पताल सहित अन्य चिकित्सालयों में निश्शुल्क भोजन की व्यवस्था हो। साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर चौराहों पर स्वच्छ पेयजल की भी व्यवस्था के लिए प्रयास कर रहा हूं।
-विशाल सिंह, अध्यक्ष विजयश्री फाउंडेशन (प्रसादम सेवा)।

निराश्रितों के लिए बनवा रहे वृद्धाश्रम
निराश्रित बुजुर्गों के लिए वृद्धाश्रम बनवाने के लिए प्रयासरत हूं। इससे इतर गोमतीनगर में मिठाईवाला चौराहा पर शौचालय निर्माण के साथ अवैध कब्जे हटवा रहे हैं। स्वच्छता में हमारी समिति नगर निगम का सहयोग कर रही है। लोगों को जागरूक करने के लिए कपड़े के थैले भी बांट रहे हैं। गोमतीनगर में वार्डों की अन्य समस्याओं के निस्तारण के लिए भी प्रयासरत रहते हैं।
- रूप कुमार शर्मा, सचिव, गोमतीनगर जनकल्याण महासमिति।

जानकीपुरम के तीन सेक्टरों में संवरने लगे पार्क
हमने माय सिटी माय प्राइड के तहत जानकीपुरम विस्तार सेक्टर पांच, छह और आठ के पार्कों को विकसित करने का बीड़ा उठाया था। कई पार्कों में काम शुरू हो गया है। हमने पार्क के आसपास रहने वाले लोगों का इस काम में सहयोग लिया। पांच लोगों की कमेटी बना दी है। हम सेवा दिवस भी मना रहे हैं। वहां जनविकास पर चर्चा करते हैं। इसमें पूर्व कार्यवाहक महापौर सुरेश चंद्र अवस्थी को भी शामिल किया है।
-पंकज तिवारी, संयोजक, लखनऊ जनविकास महासंघ

दो स्कूलों में दिये सेनेटरी नेपकिन वेंडिंग मशीनें
हमने दो स्कूलों में सेनेटरी पैड की वेंडिंग मशीन नवयुग और आर्यकन्या में लगवाई। आशा ज्योति केंद्र में बच्चों के बनाए प्रोडक्ट की हम सप्लाई करते हैं। इसके साथ मेहंदी की क्लास चलाते हैं। महिलाओं को हुनरमंद बनाने के लिए सिलाई-कढ़ाई सिखा रहे हैं। दो स्कूलों को हैप्पी स्कूल बनाया है। वहां ई-लर्निंग सेंटर भी खोला। प्रोजेक्टर से पढ़ाई की व्यवस्था भी की।
-उत्तरा भार्गव, संयोजक, इनरव्हील क्लब, लखनऊ वेस्ट

अस्पतालों में दीं व्हील चेयर- स्ट्रेचर, रैन बसेरों का जीर्णोद्धार
धनवन्तरि सेवा केंद्र मरीजों की दो मूल जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रयासरत है। केजीएमयू, बलरामपुर, लोहिया अस्पताल, लोहिया संस्थान, सिविल अस्पताल, रानी लक्ष्मी बाई राजाजीपुरम और लोकबंधु अस्पताल में स्ट्रेचर व व्हीलचेयर की व्यवस्था की है। केजीएमयू और बलरामपुर अस्पताल में तीमारदारों की सुविधा के लिए रैन बसेरों का जीर्णोद्धार कराया है। महिलाओं को हुनर का प्रशिक्षण भी दिला रहे हैं।
-डॉ. सूर्यकांत, अध्यक्ष, धनवन्तरि सेवा संस्थान।

 

By Krishan Kumar