लखनऊ, राज्य ब्यूरो। प्रदेश के प्राइवेट व सरकारी मेडिकल कालेजों में इस बार एमबीबीएस, एमडी व एमएस आदि कोर्सेज की फीस नहीं बढ़ाई जाएगी। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने स्नातक (यूजी) व स्नातकोत्तर (पीजी) कोर्सेज की फीस न बढ़ाने निर्णय लेकर शैक्षिक सत्र वर्ष 2022-23 में दाखिला लेने जा रहे विद्यार्थियों को बड़ी राहत दे दी है। बीते शैक्षिक सत्र वर्ष 2021-22 में निर्धारित किया गया शुल्क ही इस बार भी विद्यार्थियों से लिया जाएगा।

बीते साल यह थी व्‍यवस्‍था 

प्राइवेट मेडिकल कालेजों में बीते साल एमबीबीएस कोर्स की फीस अलग-अलग कालेजों में अधिकतम 14.59 लाख रुपये से लेकर न्यूनतम 11.65 लााख रुपये प्रति वर्ष निर्धारित थी और इसके अलावा सिर्फ पहले साल तीन लाख रुपये सिक्योरिटी मनी भी जमा कराई गई थी। वहीं अलग-अलग अल्पसंख्यक मेडिकल कालेजों में कालेजों में एमबीबीएस कोर्स की फीस प्रति वर्ष अधिकतम 20.60 लाख रुपये से न्यूनतम 18.70 लाख रुपये थी। इसके साथ सिर्फ पहले वर्ष तीन लाख रुपये सिक्योरिटी मनी भी जमा कराई गई थी।

सरकारी मेड‍िकल कालेजों की फीस   

वहीं सरकारी मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस कोर्स की फीस 26 हजार रुपये प्रति वर्ष थी और 10 हजार काशन मनी जमा कराई गई थी। इस शैक्षिक सत्र वर्ष 2022-23 में भी यही फीस ली जाएगी। इसी तरह वर्ष 2021-22 में एमडी, एमएस व डिप्लोमा आदि पीजी कोर्सेज की अलग-अलग प्राइवेट मेडिकल कालेजों में प्रति वर्ष 26.38 लाख रुपये से लेकर 15.72 लाख रुपये थी। वहीं अल्पसंख्यक कालेजों में पीजी कोर्सेज की 41 लाख रुपये प्रति वर्ष फीस थी। वहीं सरकारी मेडिकल कालेजों में 30 हजार रुपये प्रति वर्ष फीस निर्धारित थी। इस शैक्षिक सत्र वर्ष 2022-23 में भी यही फीस ली जाएगी।

सरकारी नर्सिंग कालेजों में फीस न‍िर्धार‍ित

सरकारी व स्वशासी मेडिकल कालेजों में चल रहे नर्सिंग कालेजों की फीस तय कर दी गई है। शैक्षिक सत्र 2022-23 में दाखिले के लिए बीएससी नर्सिंग और पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग कोर्स की फीस 40,900 रुपये प्रति वर्ष तय की गई है। वहीं एमएससी नर्सिंग कोर्स की फीस 55,400 रुपये प्रति वर्ष निर्धारित की गई है। प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार की ओर से शैक्षिक सत्र 2022-23 में बीएससी नर्सिंग, पोस्ट बीएससी नर्सिंग व एमएससी नर्सिंग कोर्स की फीस निर्धारित किए जाने का आदेश जारी कर दिया गया है।

अगले सत्र में 10 फीसद बढ़ा सकेंगे फीस 

शासन ने सरकारी व स्वशासी मेडिकल कालेजों के परिसर में चल रहे सरकारी नर्सिंग कालेजों की फीस तय कर दी गई है। अगले शैक्षिक सत्र में सरकारी नर्सिंग कालेजों को अधिकतम 10 प्रतिशत तक फीस बढ़ा सकेंगे। जल्द प्राइवेट नर्सिंग कालेजों की फीस भी तय की जाएगी। उधर नर्सिंग कालेजों में दाखिले के लिए प्रवेश काउंसिलिंग छह अक्टूबर 2022 को शुरू होगी। अभ्यर्थी 10 अक्टूबर तक आनलाइन पंजीकरण और पंजीकरण शुल्क जमा कर सकेंगे। 500 रुपये पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा।

वहीं पांच हजार रुपये धरोहर राशि जमा करनी होगी। 13 अक्टूबर तक धरोहर राशि जमा की जा सकेगी। वहीं 11 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक अभ्यर्थी मनपसंद सीटों का आनलाइन विकल्प भर सकेंगे। 14 अक्टूबर या 15 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा। 17 अक्टूबर को आनलाइन आवंटन पत्र जारी किए जाएंगे। काउंसिलिंग से संबंधित सभी जानकारी वेबसाइट www.dgme.up.gov.in पर उपलब्ध है।

Edited By: Anurag Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट