लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में छिटपुट शिकायतों के बीच विधान परिषद की शिक्षक व स्नातक कोटे की 11 सीटों की मतगणना में भाजपा का दबदबा साफ दिखाई पड़ा। बरेली-मुरादाबाद सीट पर डॉ. हरि सिंह ढिल्लो विजयी रहे और लखनऊ में उमेश द्विवेदी निर्णायक जीत की ओर हैं। सबसे ज्यादा चौंकाने वाला रुझान मेरठ से आ रहा है। यहां 48 साल से शिक्षक सीट पर विधायक रहे ओम प्रकाश शर्मा भाजपा के उम्मीदवार श्रीचंद शर्मा से देर रात तक आए नतीजों में इतना पीछे हैं, उनके जीतने की उम्मीद न के बराबर रह गई। नतीजों ने इशारा कर दिया है कि इन चुनावों में शिक्षकों के वर्चस्व वाले पुराने किले में अब राजनीतिक दलों की मजबूत सेंध लग चुकी है।

लखनऊ से उमेश द्विवेदी काफी आगे : लखनऊ शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में 17985 मतों की गिनती में भाजपा प्रत्याशी उमेश द्विवेदी को 6218 प्रथम वरीयता मत मिल चुके हैं, जबकि निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. महेंद्र नाथ राय को 3171 मत मिले। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी उमाशंकर को 2238 प्रथम वरीयता मत मिले। निर्दलीय प्रत्याशी आरपी मिश्र को 1975, शाह आलम खान को 1269 और सोहन लाल वर्मा को 986 मत मिले हैं। इसी तरह भाजपा प्रत्याशी को जीत दर्ज करने के लिए दूसरी वरीयता वाले मतों की गिनती में भी आगे होना पड़ेगा। स्नातक के लिए वोटों की गिनती देर रात शुरू ही नहीं हो सकी है।

इलाहाबाद-झांसी में भी भाजपा आगे : इलाहाबाद-झांसी स्नातक चुनाव में भाजपा व सपा प्रत्याशियों के बीच कांटे की टक्कर में पहले सपा ने बढ़त बनाई, फिर हर राउंड में जीत-हार का गणित बदलता रहा। देर रात तक भाजपा प्रत्याशी यज्ञदत्त शर्मा ने 1227 वोट की बढ़त के साथ सपा को पीछे छोड़ दिया। जीत-हार का निर्णायक फैसला शुक्रवार को सामने आ आएगा।

आगरा शिक्षक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी आगे : आगरा शिक्षक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. आकाश अग्रवाल ने भाजपा प्रत्याशी डॉ. दिनेश कुमार वशिष्ठ पर 2113 वोटों से बढ़त बना ली। नियमानुसार किसी को 50 फीसद वोट न मिलने पर द्वितीय वरीयता के वोटों की गिनती जारी है। उधर, करीब एक घंटे हंगामे के बाद देर शाम भाजपा प्रत्याशी ने पुनर्मतगणना के लिए आवेदन किया, जिसे प्रशासन ने खारिज कर दिया। दूसरे चरण में निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. आकाश अग्रवाल को 5798 और भाजपा प्रत्याशी डॉ. दिनेश वशिष्ठ को 3685 वोट मिले। पहले राउंड में भाजपा प्रत्याशी को 2718, जबकि निर्दलीय प्रत्याशी को 2601 वोट मिले थे। निवर्तमान एमएलसी जगवीर किशोर जैन पहले राउंड में ही मुकाबले से बाहर हो गए। वहीं, स्नातक सीट पर 22 और शिक्षक पर 16 प्रत्याशी मैदान में हैं।

गोरखपुर-फैजाबाद में ध्रुव त्रिपाठी आगे : गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए प्रथम चरण के मतों की गिनती पूरी हो गई है। इसमें ध्रुव त्रिपाठी अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी अजय सिंह से 854 मतों से आगे चल रहे हैं। ध्रुव को 8730 जबकि अजय को 7876 वोट मिले हैं। राजीव यादव को 3614, जबकि सपा के अवधेश यादव को 2438 मत प्राप्त हुए हैं। दूसरे चरण की गणना शुरू हो गई है। अब द्वितीय वरीयता के मतों की गिनती हो रही है।

बरेली-मुरादाबाद से भाजपा के हरि सिंह ढिल्लो जीते : बरेली-मुरादाबाद शिक्षक एमएलसी चुनाव में भाजपा के हरि सिंह ढिल्लो ने 7963 वोटों से जीत दर्ज की। उन्हें 12827 वोट मिले, जबकि दूसरे स्थान पर रहे सपा प्रत्याशी संजय मिश्रा 4864 वोट ही पा सके। तीसरे चरण में सभी 26803 वोटों की प्रथम वरीयता की गिनती हो गई। इनमें 1250 निरस्त हुए। कांग्रेस के प्रत्याशी मेहंदी हसन को महज 276 वोट मिले, जबकि निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. राजेन्द्र गंगवार को 1162 और राम बाबू शास्त्री ने 2016 मत हासिल किए। अभिषेक द्विवेदी और पुष्पेंद्र कुमार ऐसे निर्दलीय प्रत्याशी थे, जिन्हें महज चार-चार वोट मिले।

मेरठ में ओम प्रकाश शर्मा को पछाड़ भाजपा निर्णायक जीत की ओर : मेरठ शिक्षक सीट पर भाजपा प्रत्याशी श्रीचंद शर्मा ने तीन राउंड में पूरी प्रथम वरीयता के मतों की गिनती में बढ़त बना ली है। उन्होंने आठ बार से लगातार विजयी रहे शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा को 4233 मतों से पीछे छोड़ दिया है। श्रीचंद शर्मा को प्रथम वरीयता की मतगणना में 7186 मत मिले, जबकि दूसरे स्थान पर रहे ओपी शर्मा को 2953 मत मिले हैं। श्रीचंद जीत के लिए निर्धारित 9,070 वोटों का आंकड़ा प्राप्त नहीं कर पाए। लिहाजा दूसरी वरीयता के वोटों की गिनती चल रही है, जिसमें रात बारह बजे तक करीब आठ सौ वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है। जिसमें श्रीचंद को 85 और ओपी शर्मा को 35 वोट मिले हैं। दूसरी वरीयता के मतों की गिनती के बाद ही हार जीत का फैसला होगा।

वाराणसी में सपा के लाल बिहारी यादव आगे : वाराणसी खंड शिक्षक व स्नातक सीट की प्रथम वरीयता की मतगणना में शिक्षक सीट पर सपा के लाल बिहारी यादव अपने प्रतिद्वंद्वी शर्मा गुट के शिक्षक नेता डॉ. प्रमोद कुमार मिश्र से 621 वोट से आगे चल रहे थे। लाल बिहारी को 5853 वोट और प्रमोद कुमार मिश्र को 5232 वोट मिले। निवर्तमान एमएलसी चेतनारायण सिंह 4023 वोट पाकर तीसरे स्थान पर हैं। दूसरी वरीयता की गिनती देर रात तक जारी रही। शिक्षक सीट पर 12 प्रत्याशी मैदान में हैं। कुल 23,075 वोट पड़े हैं, जबकि निर्धारित कोटा 11,033 तय है। जीत के लिए प्रत्याशी को उक्त कोटा प्राप्त करना होगा। वहीं, स्नातक सीट पर 22 प्रत्याशी मैदान में हैं। कुल 82,498 वोट पड़े हैं। इसमें प्रथम वरीयता की गिनती रात तक जारी थी।

खंड स्नातक की एक सीट पर भाजपा आगे : खंड स्नातक की पांच सीटों में खबर लिखे जाने तक केवल एक सीट इलाहाबाद-झांसी की ही मतगणना शुरू हो सकी थी। तीन चरण की मतगणना के बाद चार बार के विधायक व भाजपा प्रत्याशी यज्ञदत्त शर्मा 652 मतों से आगे थे। आगरा की मतगणना देर रात शुरू हो गई, लेकिन लखनऊ, मेरठ, व वाराणसी खंड स्नातक की मतगणना अभी शुरू नहीं हो सकी थी।

विधान परिषद चुनाव में किस सीट पर कौन आगे/जीते 

शिक्षक कोटे की सीटें

  • आगरा खंड शिक्षक डॉ. आकाश अग्रवाल (निर्दलीय) आगे
  • बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक डॉ. हरि सिंह (भाजपा) जीते
  • गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक ध्रुव त्रिपाठी (निर्दलीय) आगे
  • लखनऊ खंड शिक्षक उमेश द्विवेदी (भाजपा) आगे
  • मेरठ खंड शिक्षक श्रीचंद शर्मा (भाजपा) आगे
  • वाराणसी खंड शिक्षक लाल बिहारी यादव (सपा) आगे

स्नातक कोटे की सीटें

  • इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक यज्ञदत्त शर्मा (भाजपा) आगे
  • लखनऊ खंड स्नातक (मतगणना शुरू नहीं हो सकी)
  • आगरा खंड स्नातक मानवेंद्र सिंह (भाजपा) आगे
  • मेरठ खंड स्नातक (मतगणना शुरू नहीं हो सकी)
  • वाराणसी खंड स्नातक (मतगणना शुरू नहीं हो सकी) 

अब तक पूरी तरह हावी रहा ओम प्रकाश शर्मा गुट : शिक्षक और स्नातक कोटे के एमएलसी चुनाव में अब तक ओम प्रकाश शर्मा गुट पूरी तरह हावी रहा है। इस बार के चुनाव में भाजपा ने शर्मा गुट के सियासी वर्चस्व तोड़ने के लिए शिक्षक कोटे की सीटों पर पहली बार अपने उम्मीदवार उतारे हैं। शिक्षक कोटे से मेरठ क्षेत्र पर ओम प्रकाश शर्मा का कब्जा है। शर्मा पिछले 48 साल अर्थात आठ बार से लगातार एमएलसी निर्वाचित होते आ रहे हैं। वह नौवीं बार फिर से मैदान में उतरे हैं। 

 

मेरठ की स्नातक सीट से भी उनके ही गुट के हेम सिंह पुंडीर लगातार चार बार से एमएलसी चुने गए और एक बार फिर किस्मत आजमा रहे हैं। ब्राह्मण और ठाकुर समीकरण के सहारे ओम प्रकाश शर्मा गुट का शिक्षक और स्नातक कोटे की एमएलसी सीटों पर एकछत्र राज है। उत्तर प्रदेश की 11 सीटों में से दो पर भारतीय जनता पार्टी, दो पर समाजवादी पार्टी, चार पर शर्मा गुट और तीन पर निर्दलीय का कब्जा है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप