लखनऊ, जेएनएन। पदोन्नति की दौड़ में मंगलवार को एक मुख्य आरक्षी जिंदगी की जंग हार गए। पदोन्नति के लिए पुलिस लाइन में तीन किलोमीटर की दौड़ भाग लिया जाना था। दौड़ते दौड़ते आरक्षी बेहोश होकर गिर पड़े। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। घटना से सभी लोग सकते में हैं।

यह है मामला

मूलरूप से कानपुर निवासी मुख्य आरक्षी राजकरन प्रयागराज में तैनात थे। 55 साल की उम्र में राजकरण लखनऊ के पुलिस लाइन में पुलिस भर्ती बोर्ड की ओर से मुख्य आरक्षी से प्लाटून कमांडर की पदोन्नति के लिए बुलाई गई दौड़ में शामिल होने आए थे। राजकरन ने अन्य जवानों के साथ तीन किलोमीटर की दौड़ में प्रतिभाग किया। दौड़ते समय अचानक वह गश खाकर गिर पड़े। वहां मौजूद पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारी व अन्य सुरक्षाकर्मी राजकरन को पुलिस लाइन के मैदान से उठाकर छांव में लेकर आए। हालांकि तब तक उनकी तबीयत बिगड़ चुकी थी। राजकरन को एम्बुलेंस से सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि बुधवार और गुरुवार को भी यह दौड़ होनी है। इसके अलावा अन्य भर्तियों से संबंधित शारिरिक परीक्षा की तैयारी भी चल रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस