लखीमपुर, संवाद सूत्र। मजगई इलाके में बाघ ने एक किशोर को अपना निवाला बना लिया। ये घटना गुरुवार की देर रात गांव दुबहा कुंवरपुर कलां के पास घटित हुई, जहां किशोर का अधखाया शव पास के गन्ने के खेत में बरामद किया गया। घरवालों ने पुलिस व वन विभाग को हादसे की सूचना दी है। वन विभाग ने इलाके में लोगों को खेतों में न जाने के लिए आगाह किया है।

मजगई इलाके के नदी की तराई में बसे गांव दुबहा कुंवरपुर कलां निवासी 14 वर्षीय किशोर सुखविंदर पुत्र दिलाराम गुरुवार की देर शाम घर से महज चालीस मीटर की दूरी पर पास के ही गन्ने के खेत में शौच के लिए गया था। यहां से कुछ देर तक वापस न आने के कारण घरवालों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। हाथों में टार्च लाठी-डंडे लेकर घरवाले खेत की तरफ पहुंचे ही थे कि किशोर की चप्पलें पड़ी दिखाई दी।

उसके कुछ ही दूरी पर किशोर का अधखाया शव पड़ा दिखाई दिया। इसके साथ ही कुछ दूरी पर बाघ के पगचिन्ह भी मिले हैं। लोगों ने बाघ की मौजूदगी की आशंका जताते हुए उसके हमले से मौत की बात कही है। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी पुलिस चौकी बिजुआ को दी। उसके बाद वन विभाग को इस घटना की सूचना दी गई।

मौके पर भीरा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर आवश्यक कार्रवाई के साथ ही ग्रामीणों को बाघ की मौजूदगी के चलते खेतों की तरफ जाने से मना किया है। घटना की जानकारी होने पर पलिया एसडीएम कार्तिकेय कुमार व तहसीलदार आशीष कुमार घटना स्थल पर पहुंच गए हैं।

Edited By: Vrinda Srivastava