लखनऊ, जागरण संवाददाता। कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। रविवार को पांच लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें दो मरीज कांटैक्ट ट्रेसि‍ंग में पाजिटिव मिले हैं। वहीं बिहार से लखनऊ लौटे दो और हिमाचल से पंजाब होते हुए आए एक अन्य व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई है। वर्तमान में राजधानी में कुल 44 सक्रिय केस हैं। इनमें दो मरीज केजीएमयू और पीजीआई में भर्ती हैं। एक हफ्ते पहले प्रदेश के बाहर से आए व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि हुई थी। इस मरीज के संपर्क में आने वाले लगभग 20 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गये थे। इममें दो व्यक्तियों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। दोनों मरीज लखनऊ के मूल निवासी हैं।

हिमाचल के पालमपुर से होते हुए पंजाब के संगरूर शहर से यात्रा कर आने वाले एक अन्य यात्री में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। निजी लैब में जाकर जांच कराने पर उसकी रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसके आलावा बिहार से लखनऊ की रेल यात्रा कर लौटे दो व्यक्तियों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। दोनों मरीजों की जांच रेलवे स्टेशन पर हुई थी। सीएमओ कार्यालय में कोरोना के नोडल इंचार्ज डा. मिलि‍ंद वर्धन ने बताया कि सभी संक्रमितों की कांटैक्ट ट्रेसि‍ंग कराई जा रही है। 70 से अधिक लोगों के नमूने एकत्र किए जा चुके हैं। सभी संक्रमितों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। बाहर से आये लोगों के नमूने जिनोम सीक्वेंसि‍ंग के लिए भेजे गए हैं।

शहर में बने हैं 31 नए कंटेनमेंट जोन : लगातार बड़ी संख्या में मिल रहे कोरोनावायरस के संक्रमित रोगियों के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। राजधानी में संक्रमितों की अधिक संख्या वाले क्षेत्रों को रेड जोन बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। वर्तमान में रेड जोन क्षेत्रों में आलमबाग, सरोजनी नगर, अलीगंज और सिल्वर जुबली को रेड जोन में शामिल किए गए हैं। शहर में अभी 31 कंटेनमेंट जोन बने हुए है।

शनिवार को 13 मामले सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अपनी योजना में बदलाव किया है। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. मिलि‍ंद वर्धन के मुताबिक जिन इलाकों में ज्यादा मामले आयेंगे उन्हें रेड जोन घोषित किया जाएगा। इसके तहत संक्रमित के घर के आसपास 50 घरों में सर्विलांस का काम किया जायेगा। सर्विलांस टीमों द्वारा घर-घर दस्तक देकर लोगों की जानकारी जुटाई जायेगी । विभाग द्वारा पहले अधिक कोरोना मामलों वाले क्षेत्रों में पांच-पांच सर्विलांस टीम और रैपिड रेस्पांस टीमों को लगाया गया था लेकिन, अब इनकी संख्या दोगुनी कर दी गयी है।

बनाये गए 31 कंटेनमेंट जोन : सीएमओ आफिस प्रवक्ता योगेश रघुवंशी ने बताया कि राजधानी में इस समय 31 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं। इसमें सबसे ज्यादा कंटेनमेंट जोन आशियाना, एलडीए, इंदिरा नगर क्षेत्रों में बनाये गये है।

Edited By: Anurag Gupta