लखनऊ (जेएनएन)। वित्तीय वर्ष 2016-17 की तुलना में 2017-18 में प्रदेश के सकल राज्य घरेलू उत्पाद (राज्य आय) में जहां 6.4 फीसद की वृद्धि हुई, वहीं इस अवधि में सूबे में प्रति व्यक्ति आय में 8.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। वर्ष 2015-16, 2016-17 तथा 2017-18 में प्रति व्यक्ति आय क्रमश: 47062, 51014 व 55339 रुपये अनुमानित की गई है।

राज्य नियोजन संस्थान के अर्थ एवं संख्या प्रभाग ने वित्तीय वर्ष 2015-16, 2016-17 और 2017-18 के सकल व निवल राज्य घरेलू उत्पाद के अनुमान स्थिर (2011-12) व प्रचलित (बाजार) भावों पर तैयार कर जारी किये हैं। वर्ष 2015-16 में स्थिर व प्रचलित भावों पर सकल राज्य घरेलू उत्पाद क्रमश: 907700.41 करोड़ रुपये व 1137209.60 करोड़ रुपये,

2016-17 में 974119.96 करोड़ रुपये व 1250213.39 करोड़ रुपये तथा 2017-18 में 1036148.54 करोड़ रुपये तथा 1375607.02 करोड़ रुपये अनुमानित किया गया है। यह स्थिर (2011-12) भावों पर सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) में वर्ष 2015-16 में 8.8 प्रतिशत, 2016-17 में 7.3 प्रतिशत तथा वर्ष 2017-18 में 6.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

प्रचलित (बाजार मूल्यों) भावों पर निवल राज्य घरेलू उत्पाद के अनुसार वर्ष 2015-16, 2016-17 तथा 2017-18 में प्रति व्यक्ति आय क्रमश: 47062, 51014 व 55339 रुपये अनुमानित की गई, जो कि पिछले वर्ष से क्रमश: 11.3 प्रतिशत, 8.4 प्रतिशत तथा 8.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। 

Posted By: Ashish Mishra