Move to Jagran APP

UPPCL: बिजली विभाग ने जारी किया नया आदेश, अब मीटर रीडर के साथ जाएंगे अधिकारी; की जाएगी ये कार्रवाई

UP Electricity विद्युत दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए सख्त उपाय किए जाएंगे। वहीं विद्युत दुर्घटनाओं के जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई भी होगी। बिजली आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि मीटर रीडर के साथ अधिकारी भी रीडिंग लेने उपभोक्ता के यहां जाएं ताकि सही बिजली का बिल उपभोक्ताओं को मिलना सुनिश्चित हो सके।

By Ashish Kumar Trivedi Edited By: Abhishek Pandey Sun, 16 Jun 2024 07:40 AM (IST)
विद्युत दुर्घटनाओं पर दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। विद्युत दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए सख्त उपाय किए जाएंगे। मानकों के अनुसार संविदा कर्मियों को सुरक्षा उपकरण भी उपलब्ध कराए जाएंगे। वहीं विद्युत दुर्घटनाओं के जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई भी होगी।

शनिवार को यह निर्देश पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष डॉ. आशीष गोयल ने दिए। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने पिछले दिनों एक वर्ष में विद्युत दुर्घटनाओं से 1,120 लोगों की मौत के मामले को उठाते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

मीटर रीडर के साथ अधिकारी भी जाएंगे रीडिंग लेने

शक्ति भवन में बिजली आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि मीटर रीडर के साथ अधिकारी भी रीडिंग लेने उपभोक्ता के यहां जाएं ताकि सही बिजली का बिल उपभोक्ताओं को मिलना सुनिश्चित हो सके। ऐसे में बिजली चोरी करने वाले भी पकड़े जा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि बिजली के बिल की वसूली अधिक से अधिक की जाए। विद्युत भंडार गृहों का आडिट कराया जाए ताकि विद्युत सामग्री की गुणवत्ता सुनिश्चित की जा सके। अध्यक्ष ने कहा कि ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त न हों इसके लिए थर्ड पार्टी आडिट कराया जाए और जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए।

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि कार्रवाई की जा रही है और इसी का नतीजा है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार कम ट्रांसफार्मर खराब हुए हैं। बैठक में सभी डिस्काम के प्रबंध निदेशक व निदेशक भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: 2027 के विधानसभा चुनाव में क्या होगा? अखिलेश यादव ने अभी से कस ली कमर, पासा पलटने के लिए प्लान तैयार