लखनऊ (महेन्द्र पाण्डेय)। अब डॉक्टरों की हाजिरी फेस स्कैनर से लगेगी। डॉक्टर स्कैनर मशीन के सामने खड़े होंगे तो उनका चेहरा ऑटो स्कैन हो जाएगा और उनकी उपस्थिति कम्प्यूटर में दर्ज हो जाएगी। यह व्यवस्था बलरामपुर अस्पताल में शुरू की गई है। अस्पताल के निदेशक कार्यालय में फेस स्कैनर मशीन लगाई गई है। यह प्रयोग सफल रहा तो अस्पताल के करीब 1200 कर्मचारियों की भी उपस्थिति इसी तरीके से लगेगी।

बलरामपुर अस्पताल में लगभग 70 डॉक्टर हैं। अभी तक इन डॉक्टरों की हाजिरी बायोमेट्रिक प्रणाली से लगती थी, लेकिन अंगुली भीगी होने या गंदी होने के कारण बायोमेट्रिक मशीन बार-बार खराब हो जाती थी। तब मजबूरन मैनुअल तरीके से हाजिरी ली जाती थी। इस पर बलरामपुर अस्पताल प्रशासन ने फेस स्कैनर मशीन का लगाने की पहल की। प्रयोग के तौर पर 70 डॉक्टरों की उपस्थिति इस मशीन के जरिए ली जा रही है। मशीन में डॉक्टरों का चेहरा स्कैन किया गया है। साथ ही नाम व पद भी दर्ज है। मशीन के सामने आते ही डॉक्टर की उपस्थिति सीधे साफ्टवेयर के जरिए कम्प्यूटर में फीड हो जाती है। खास बात है कि फेस स्कैनर में उपस्थिति दर्ज होने के साथ ही चेहरे की फोटो रिकार्ड के रूप में रहती है। स्कैनर खराब होने पर विकल्प के रूप में मशीन में बायोमीट्रिक प्रणाली से भी उपस्थिति दर्ज की जा सकती है।

बलरामपुर अस्पताल के निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि अभी 70 डॉक्टरों की उपस्थिति फेस स्कैनर से ली जा रही है। यह प्रयोग सही रहा तो अस्पताल के करीब 1200 कर्मचारियों की हाजिरी भी इसी तरीके से ली जाएगी।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस