लखनऊ, जागरण संवाददाता। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सपा, बसपा और कांग्रेस के साथ अरवि‍ंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके पूर्वज कभी मंदिर नहीं गए, वह आज राम मंदिर में मत्था टेक रहे हैं। वह भाजपा के पिछड़ा मोर्चा की ओर से विश्वेश्वरय्या सभागार में आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, सपा ने पहले कांग्रेस फिर बसपा के साथ मिलकर भाजपा के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन 2014 के बाद 2017 में जनता ने उनको नकार दिया, वहीं 2019 के चुनाव में भाजपा को 51 प्रतिशत वोट मिले। अब 2022 में फिर कमल खिलेगा। भाजपा 60 प्रतिशत वोट हासिल करेगी, जबकि 40 प्रतिशत वोट में अन्य दलों की भागेदारी होगी। उसमें भी हमारी हिस्सेदारी होगी।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि किसान आंदोलन को सपा, बसपा और कांग्रेस ही नहीं, दूसरे देशों में सक्रिय देश विरोधी लोग पीछे से चला रहे हैं। भाजपा ने किसानों के लिए बहुत काम किया है। गेहूं और धान खरीद में इतना काम सपा, कांग्रेस एवं बसपा के समय नहीं हुआ। वर्ष 2017 से पहले गांवों में बिजली चार से पांच घंटे आती थी। आज हर घर को भरपूर बिजली मिल रही है। राजनीतिक दृष्टि से पाल समाज ने चेतना दिखाने का काम किया है। सपा की साइकिल उसी दिन पंक्चर हो गई थी, जिस दिन पाल समाज भाजपा के साथ आ गया था। अब 25 साल तक सपा की साइकिल नहीं चलेगी।

उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि पाल समाज मध्यकाल में सबसे शक्तिशाली था। उन्होंने सातवीं से 11वीं सदी तक राज किया। मुगलों के दौर में पाल समाज ने हि‍ंदू मंदिरों के साथ बौद्ध धर्म की रक्षा के लिए मंदिरों का निर्माण कराया। आज देश में कोई दल बिरयानी खाकर दहाड़ रहा है तो कोई बंगाल से यूपी की तरफ देख रहा है। कोई छोटे दलों से गठबंधन करके समाज को जाति के आधार पर बांटने का षड्यंत्र रच रहा है।

Edited By: Anurag Gupta