लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि प्रदेश में प्रतिदिन जहां नौ किलोमीटर लंबी नई सड़क बनाई जा रही है, वहीं औसतन प्रति तीन दिन में एक सेतु (पुल) का निर्माण भी पूरा किया जा रहा है। इसी तरह रोज करीब दस किलोमीटर के औसत से मार्गों का चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण भी कराया जा रहा है।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सड़क निर्माण में सुरक्षा मानकों का शतप्रतिशत पालन करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने घनी आबादी वाले कस्बों में बाईपास बनाने की औपचारिकताएं भी पूरी कराने को कहा है। गुरुवार को उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में करीब 11,941 किलोमीटर सड़कों का निर्माण तथा 13,128 किलोमीटर सड़कों का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण भी किया जा चुका है।

इसके अलावा 397 पुलों का निर्माण किया गया है। सफर को सुरक्षित बनाने के लिए प्रमुख मार्गों का सेफ्टी आडिट कार्य सीआरआरआई दिल्ली द्वारा कराया जा रहा है। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के 63 जिलों में 467 चिन्हित ब्लैक स्पाट पर साईन बोर्ड, रंबल स्ट्रिप व जेब्रा क्रासिंग बनाकर उनमें सुधार किया गया है।

मीरजापुर में शहीद रविकुमार के नाम पर सड़क : उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि जय हिंद वीर पथ योजना के तहत जिला मीरजापुर के जिगना से गौरा तक ग्रामीण मार्ग का नामकरण शहीद रवि कुमार सिंह के नाम पर किए जाने की अधिसूचना जारी कर दी गई है।

सात पुलों के निर्माण को 15.36 करोड़ स्वीकृत : उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि चित्रकूट में दो तथा कानपुर देहात, बलिया, बस्ती, गोंडा व बदायूं में एक-एक सेतु निर्माण का शासनादेश जारी करने के साथ सभी सात परियोजनाओं के लिए लगभग 15.37 करोड़ रुपये की धनराशि स्वीकृत कर दी गई है। इन परियोजनाओं पर अनुमानित लागत करीब 76.84 करोड़ रुपये है।

Edited By: Umesh Tiwari