लखनऊ, राज्य ब्यूरो। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सड़कों के गड्ढामुक्ति अभियान को 15 दिन और बढ़ाने का निर्देश दिया है। अब यह अभियान 30 नवंबर तक चलेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह पूरी निष्ठा व लगन के साथ गड्ढामुक्ति अभियान और निर्माण कार्यों को तय समय के अंदर पूरा कराएं। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि अनुबंध होने के बाद एक महीने के अंदर काम शुरू न करने वाले ठेकेदारों को नोटिस देकर उन्हें डिबार करने की कार्यवाही की जाए और तीन महीने के अंदर कार्य प्रारंभ न करने वाले ठेकेदारों को काली सूची में डाला जाए। 

वह अपने सरकारी आवास पर गुरुवार को लोक निर्माण विभाग के कामकाज की समीक्षा कर रहे थे। बैठक के दौरान बताया गया कि 72 प्रतिशत से अधिक सड़कों को गड्ढामुक्त कर दिया गया है। इनमें स्टेट हाईवे, मुख्य जिला मार्ग व अन्य जिला मार्ग की प्रगति 85 प्रतिशत है। अब तक 67 प्रतिशत ग्रामीण मार्गों की गड्ढामुक्ति का कार्य पूरा हो चुका है। कुल मिलाकर लोक निर्माण विभाग की ओर से 54,373 किलोमीटर सड़कों को गड्ढामुक्त किया जा चुका है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि असमय बारिश हो जाने के कारण गड्ढामुक्ति के कार्यों पर कुछ प्रभाव पड़ा है, लेकिन अब कार्य बहुत ही तेजी से कराए जा रहे हैं। उन्होंने कार्य शुरू न करने की लापरवाही में यदि किसी अधिकारी की संलिप्तता पाई जाती है, तो उसके विरुद्ध भी कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।

जो काम शुरू नहीं हुए हैं, नौ निगरानी टीमों का गठन कर उनकी वास्तविकता की जांच करायी जाए। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्दी के मौसम में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए साइन बोर्ड लगाये जाएं व रोड लाइनिंग की जाएं। लोक निर्माण विभाग की सड़कों पर 15 दिन के अंदर इस आशय के बोर्ड लगाए जाएं। अंतरराज्यीय सीमाओं पर गेट का निर्माण दिसंबर तक बनवा दिए जाएं। केशव ने कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले खंड व जोन के अभियंताओं को पुरस्कृत किया जाए और जिनका काम खराब है उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाए। कहा कि 2024 में प्रयागराज में होने वाले महाकुंभ के दृष्टिगत लोक निर्माण विभाग अभी से अपनी कार्य योजना बनाना प्रारंभ करें।

Edited By: Vikas Mishra